| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube
निजी संपत्ति पर प्रचार सामग्री का उपयोग स्वामी की लिखित अनुमति से ही
चुनाव प्रचार में सम्पत्ति विरुपण पर सख्त निर्देश

लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान किसी भी सरकारी परिसर में दीवारों पर कोई लेखन नहीं होगा और न कोई पोस्टर, बैनर या पेपर चिपकाए जा सकेंगे। साथ ही कटआउट, होर्डिंग्स, झंडे आदि लगाने की भी इजाजत नहीं होगी। सरकारी परिसर में सभी सरकारी दफ्तर तथा ऐसे केम्पस भी शामिल हैं, जिनमें दफ्तर लगते हैं।

निजी सम्पत्तियों पर चुनाव प्रचार संबंधी लेखन तथा अन्य प्रचार सामग्री का उपयोग उनके मालिकों की स्वैच्छिक अनुमति से ही किया जा सकेगा। वहाँ लगाए गए बैनर अथवा झंडे आदि से किसी अन्य को कोई असुविधा नहीं होनी चाहिए। निजी सम्पत्ति पर झंडे और बैनर लगाने के तीन दिन के भीतर भवन स्वामी की स्वैच्छिक लिखित अनुमति की छायाप्रति रिटर्निंग अफसर के पास विधिवत प्रस्तुत की जानी चाहिए।

स्थानीय कानून के दायरे में राजनैतिक दलों के कार्यकर्ता, उम्मीदवार और समर्थक अपनी सम्पत्ति पर बैनर, झंडियां, झंडे, कटआउट आदि लगा सकते हैं। लेकिन यह बिना किसी दवाब के स्वैच्छिक होना चाहिए और इससे किसी को असुविधा न हो।

यदि कोई राजनैतिक दल, संस्था, उम्मीदवार या व्यक्ति स्थानीय नियमों अथवा निर्देशों का उल्लंघन करते हुए किसी सम्पत्ति का विरूपण करता है, तो जिला निर्वाचन अधिकारी ऐसा करने वाले को इसे हटाने के लिए नोटिस जारी करेगें। यदि इसे फिर भी नहीं हटाया गया, तो जिला प्रशासन उसे हटाने की कार्यवाही करेगा और इस पर होने वाला खर्च संबंधित व्यक्ति अथवा संस्था से वसूल किया जाएगा। साथ ही इस राशि को संबंधित उम्मीदवार के चुनाव खर्च में जोड़ा जाएगा। वाहनों पर वाहन स्वामी स्वैच्छा से झंडे और स्टिकर लगा सकते हैं। लेकिन ये इस प्रकार लगाए जाएं कि किसी को असुविधा न हो और सड़क पर चलने वालों का ध्यान भंग न हो।

व्यवसायिक वाहनों पर झंडे, स्टिकर आदि के प्रदर्शन की तब तक अनुमति नहीं होगी जब तक चुनाव प्रचार में उपयोग के लिए जिला निर्वाचन#रिटर्निंग अधिकारी से विधिवत अनुमति न ली गयी हो। इस अनुमति की मूलप्रति विण्ड स्क्रीन पर प्रदर्शित करनी होगी।

वाहनों में लाउडस्पीकर लगाने सहित किसी भी प्रकार का बाहरी परिवर्तन मोटर वाहन अधिनियम#नियम तथा किसी अन्य स्थानीय कानून#नियम के प्रावधानों के अधीन होगा। वीडिओ रथ जैसे विशेष प्रचार वाहनों का उपयोग मोटर वाहन अधिनियम के तहत सक्षम प्राधिकारी की विधिवत अनुमति प्राप्त करने के बाद ही किया जा सकेगा।

चुनाव प्रचार जुलूसों तथा रैलियों आदि में झंडों, बैनरों, कटआउट आदि का उपयोग स्थानीय कानूनों तथा प्रचालित प्रतिबंध आदेशों के अधीन होगा।

दिनेश मालवीय /प्रलय श्रीवास्तव