Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts
चेक लिस्ट और निर्देशों का अक्षरश: पालन किया जाए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री माथुर द्वारा वीडियो कान्फ्रेसिंग के जरिये कलेक्टरों को निर्देश

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जे.एस. माथुर ने सभी जिला कलेक्टरों तथा पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिये हैं कि चुनाव प्रक्रिया में किसी भी स्तर पर ज़रा सी भी चूक नहीं होनी चाहिए, क्योंकि इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं। श्री माथुर आज विन्ध्याचल भवन स्थित एनआईसी में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के द्वारा जिला कलेक्टरों और पुलिस अधीक्षकों से लोकसभा चुनाव के संबंध में चर्चा कर रहे थे। श्री माथुर ने कलेक्टरों तथा पुलिस अधीक्षकों से कहा कि चुनाव प्रक्रिया सम्पन्न कराने के संबंध में उपलब्ध कराई गई चैक लिस्ट हर स्तर के संबंधित अधिकारी-कर्मचारी को देकर उनसे इसका पूरी तरह पालन सुनिश्चित करायें, जिससे किसी भी स्तर पर भ्रम की स्थिति न उत्पन्न हो। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि पुलिस कर्मियों के लिए पुलिस महानिरीक्षक ने जो चैक लिस्ट बनाई है, उसमें किसी भी संभावित परिस्थिति में क्या कार्रवाई की जाना चाहिए, इसका विस्तार से उल्लेख है। पुलि

सकर्मियों को आदर्श आचार संहिता एवं चुनाव नियमों की पूरी जानकारी होनी चाहिए ताकि किसी भी व्यक्ति को अनावश्यक रूप से परेशानी न हो। श्री माथुर ने समुचित प्रशिक्षण की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि यदि ठीक से प्रशिक्षण दे दिया जाए तो आधा कार्य तो अपने आप हो जाता है। प्रशिक्षण छोटे-छोटे बैचों में दिया जाए ताकि इसकी गंभीरता बनी रहे। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह का भ्रम या असमंजस होने की स्थिति में किसी भी स्तर पर तत्काल मार्गदर्शन लेने में कोई झिझक नहीं होनी चाहिए। श्री माथुर ने द्वितीय पूरक मतदाता सूची के अंतिम प्रकाशन के संबंध में विशेष रूप से सजगता बरतने के निर्देश दिये ताकि उनमें त्रुटि न हो। मतदाता फोटो परिचयपत्र के संबंध में उन्होंने निर्देश दिये कि इन्हें तैयार करने और इनके वितरण पर विशेष सजगता बरती जाए। श्री माथुर ने यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिये कि मतदाता फोटो परिचय पत्र सही हो तथा उनकी गुणवत्ता अच्छी हो। श्री

माथुर ने कलेक्टरों को परिवार सहित या व्यक्तिगत रूप से गुम मतदाताओं की जानकारी सतर्कतापूर्ण संकलित की जाए। श्री माथुर ने कहा कि उम्मीदवारों को नामांकन पत्र जमा करते समय उनके द्वारा प्रस्तुत दस्तावेजों की विधिवत पावती दी जाए। श्री माथुर ने पुलिस अधीक्षकों से कहा कि वे अपने नोडल अधिकारियों के माध्यम से नामांकन क्षेत्र में व्यवस्थाओं के संबंध में जारी निर्देशों का समुचित पालन सुनिश्चित कराएं। इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) पर चर्चा करते हुए श्री माथुर ने कहा कि इसके विषय में बहुत सजगता बरती जानी चाहिए और सभी अधिकारियों को संबंधित नियमों का पूरा अध्ययन कर लेना चाहिए। ईवीएम के नंबर राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों तथा पोलिंग एजेन्टों को बता दिये जाएं। मतदान केन्द्र पर भी ईवीएम के नंबर प्रदर्शित किये जाएं। उन्होंने मतदान दलों के रवानगी स्थल पर उनकी सुविधा के विशेष प्रबंध किये जाने के निर्देश दिये ताकि उन्हें कोई दिक्कत न हो। मतदा

न केन्द्र पर रैम्प बनाए जाने के निर्देश भी उन्होंने दिये। पुलिस तैनाती के संबंध में श्री माथुर ने डिप्लायमेंट प्लान तैयार रखने के निर्देश भी दिये। उन्होंने शिकायतों के त्वरित और प्रभावी निराकरण के निर्देश दिये। किसी भी घटना और उसकी कार्रवाई की जानकारी तत्काल कार्यालय मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को भेजने के निर्देश भी उन्होंने दिये। श्री माथुर ने कम्युनिकेशन प्लान को अद्यतन करने को कहा ताकि उनका मतदान और मतगणना के दिन उसका प्रभावी उपयोग हो सके। उन्होंने विभिन्न जिलों के कलेक्टरों द्वारा पूछे गये प्रश्नों एवं जिज्ञासाओं का समाधान किया। वीडियो कान्फ्रेसिंग के दौरान अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री संजय दुबे, संयुक्त मुख्य मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री संजीव कुमार झा, उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारीद्वय श्री जे.सी. भट्ट एवं श्री संजय कुमार मिश्रा भी उपस्थित थे।


दिनेश मालवीय/प्रलयश्रीवास्तव