| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube
 

जिले के समस्त आर्म्स डीलर अपनी सुरक्षा में शस्त्र जमा कराने की कार्रवाई का प्रतिदिन का विवरण कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी को सौंपेगे।

लोकसभा निर्वाचन के दृष्टिगत शस्त्र धारकों जिनके लायसेंस निलंबित किये गये हैं और उनको अपने शस्त्र नजदीकी थाने अथवा आर्म्स डीलर के पास जमा कराने के निर्देश दिए गए हैं। इसी अनुक्रम में जो शस्त्र धारक अपना शस्त्र आर्म्स डीलर के पास जमा कराता है उसकी जानकारी आर्म्स डीलर कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारी को देगा।

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री शिव शेखर शुक्ला ने सभी आर्म्स डीलर को निर्देशित किया है कि वे उनके यहां जमा हुए शस्त्रों की सूची रोजाना कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन कार्यालय में देंगे। कलेक्टर द्वारा जारी आदेश में आर्म्स डीलर को यह भी हिदायत दी गई है कि उनके यहां जमाशुदा शस्त्रों को किसी भी स्थिति में निर्वाचन परिणाम की घोषणा के एक सप्ताह की अवधि अर्थात 21 मई 09 के पूर्व वापस नहीं करेंगे।

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी के द्वारा आर्म्स डीलर को यह आदेश जारी कर कहा गया है कि इसका पालन तत्काल प्रभाव से किया जाये। आदेश की अवहेलना करने वाले आर्म्स डीलर के विरूध्द लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 और दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 के प्रावधानों के अंतर्गत दण्डात्मक कार्रवाई की जाएगी।

ज्ञातव्य है कि लोकसभा निर्वाचन 2009 का कार्यक्रम भारत निर्वाचन आयोग द्वारा घोषित कर दिया गया है। जिले में लोकसभा निर्वाचन के दौरान शांति और कानून व्यवस्था बनाए रखने की दृष्टि से जिले की सीमा के अंतर्गत समस्त लायसेंसियों को शस्त्र धारण प्रदर्शन आदि पर कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी द्वारा गत दिवस आदेश जारी कर रोक लगाई गई हैं। इसके अतिरिक्त केन्द्र,राज्य शासन के विभागों में कार्यरत,सेवानिवृत्त अधिकारी और कर्मचारी, केन्द्र और राज्य शासन के उपक्रमों के अधिकारी-कर्मचारियों और बैंक गार्डो और प्राइवेट सिक्यूरिटी गार्ड की हैसियत से अस्पताल, नर्सिंग होम, शैक्षणिक संस्थान को छोड़कर जिले के अन्य लायसेंसियों के शस्त्र लायसेंस निलंबित कर, इन्हें शस्त्रों को थाना अथवा डीलर की सुरक्षा में जमा कराने के निर्देश दिए गए हैं।

महेश दुबे