| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube
 

आगामी लोकसभा चुनाव संबंधी मतदाताओं के नाम जोड़ने, काटने और अन्य जो भी कार्य चुनाव अमले द्वारा किए जायें उसका पूरी सतर्कता के साथ रिकार्ड सुरक्षित रखा जाए। यह निर्देश जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर श्री शिव शेखर शुक्ला ने आज निर्वाचन संबंधी एक बैठक में दिए। उन्होंने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव के अनुभवों के आधार पर मतदान केन्द्रों के बनाने का कार्य पूर्ण किया जाये। सहायक और निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण अधिकारी स्वयं मतदान केन्द्रों पर जाकर उसका परीक्षण करें और मतदाताओं की संख्या के मान से मतदान और सहायक मतदान केन्द्र के बनाने का कार्य पूर्ण किया जाये। इस कार्य में नगर निगम के जोनल अधिकारी और वार्ड प्रभारियों का भी सहयोग लिया जाये। उन्होंने कहा कि मतदान केन्द्र में पर्याप्त जगह हो, फर्नीचर और बैठने की अच्छी और सुरक्षित व्यवस्था सुनिश्चित करें।

श्री शुक्ला ने अनुविभागीय अधिकारियों से कहा कि संपत्ति विरूपण के कार्य में नगर निगम के अमले के साथ क्षेत्रों का सतत भ्रमण कर दीवार लेखन को पूरी तरह साफ कर प्रमाण पत्र प्रस्तुत करें। इस कार्य के लिए ग्रामीण क्षेत्र में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत को भी निर्देशित करें। उन्होंने कहा कि अपने अधीनस्थ अमले को छुट्टियां बिना जिला निर्वाचन अधिकारी की अनुमति के न दी जाएं। सभाओं के लिए राजनैतिक दलों को नियमानुसार अनुमति दें। आवेदनों पर समय और दिनांक अनिवार्य रूप से अंकित करें और अपने अपने क्षेत्रों में सभाओं के लिए पहले से स्थानों का निरीक्षण कर चयन करें। उन्होंने कहा कि पूरी तरह निष्पक्ष, निर्भय होकर पारदर्शिता के साथ कार्य करें।

श्री शुक्ला ने कहा कि गांव गांव वोटिंग मशीन का डिस्प्ले पूरी सतर्कता के साथ करायें। ग्रामीण जनता को मशीन द्वारा वोट देने की प्रक्रिया सरलता के साथ समझायें। परिचय पत्र बांटने के लिए बीएलओ पूरी सतर्कता बरतें, संबंधित व्यक्ति को ही उसका परिचय पत्र दें अन्य किसी भी व्यक्ति को न दें। रोज शाम को नियमित रूप से निर्वाचन कार्यालय में रिपोर्ट प्रस्तुत करें और बाकी बचे हुए परिचय पत्र जमा करायें। बैठक में नगर निगम आयुक्त श्री मनीष सिंह, अपर कलेक्टर श्री दीपक सक्सेना सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 

कमर अली शाह