| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube
मतगणना मतदान केन्द्रवार : डाकमत पहले गिने जाएंगे

पूरे देश के साथ मध्यप्रदेश में भी लोकसभा चुनाव की मतगणना 16 मई की सुबह ठीक आठ बजे शुरू होगी। सबसे पहले डाकमतों की गणना रिटर्निंग अधिकारियों द्वारा की जाएगी। उन्हें निर्देश दिये गये हैं कि वे डाकमत पत्र मतगणना तिथि को सुबह आठ बजे से पहले ही प्राप्त कर लें। मतगणना मतदान केन्द्रवार होगी।
मतगणनाकर्मियों का रेण्डमाइजेशन मतगणना तिथि को सुबह पाँच बजे प्रेक्षक की उपस्थिति में किया जाएगा। मतगणना केन्द्र में एक या अधिक गणना कक्ष होंगे। प्रत्येक गणना केन्द्र का एक विशिष्ट नंबर तथा केन्द्र में स्थित प्रत्येक कक्ष का भी एक विशिष्ट नंबर होगा। एक कक्ष में एक समय में सिर्फ एक विधानसभा क्षेत्र के मतों की गणना होगी। जहाँ जगह की कमी हो, वहाँ एक विधानसभा क्षेत्र के मतों की गणना दो कक्षों में होगी।
आयोग के प्रेक्षक अपने भ्रमण के दौरान गणना केन्द्रों का विस्तृत निरीक्षण कर यह सुनिश्चित करेंगे कि गणना कक्षों की व्यवस्था निर्देशानुसार हुयी है। वे इसकी विशेष रिपोर्ट आयोग को भेजेंगे। अनाधिकृत व्यक्तियों के मतगणना केन्द्र में प्रवेश को रोकने की पुख्ता व्यवस्था की जाएगी। फोटोयुक्त परिचय-पत्र दिखाये बिना कोई भी मतगणना एजेन्ट प्रवेश नहीं कर सकेगा। साथ ही सभी उम्मीदवारों, उनके चुनाव एजेन्टों तथा मतगणना अमले की सही-सही पहचान के बाद ही उन्हें भीतर प्रवेश मिलेगा। भीड़ तथा प्रवेश को नियंत्रित करने के लिए प्रवेश द्वार पर ही एक सीनियर मजिस्ट्रेट नियुक्त होगा।


प्रत्येक मतगणना केन्द्र पर प्रेक्षक अथवा प्रेक्षक समूह को एक पृथक कक्ष दिया जाएगा, जहाँ एसटीडी फोन तथा फेक्स की व्यवस्था होगी। इनका उपयोग सिर्फ वे ही पूरी गोपनीयता के साथ कर सकेंगे। जहाँ संभव हो, रिटर्निंग अधिकारी को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के साथ हॉटलाइन दी जाएगी। साथ ही एसटीडी सुविधायुक्त एक या दो टेलीफोन लाइनें भी उन्हें दी जाएगी ताकि वे मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी और आयोग से सम्पर्क में रह सकें। प्रत्येक गणना केन्द्र पर रिटर्निंग अधिकारी#सहायक रिटर्निंग अधिकारी के पास एक फेक्स मशीन अनिवार्य रूप से होगी।
दिनेश मालवीय#प्रलय श्रीवास्तव