| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube
 

आगामी 16 मई को लोकसभा चुनाव की मतगणना में पहले डाक मतपत्रों की गणना की जायेगी। इसके बाद 30 मिनिट के अंतराल में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईव्हीएम) के मतों की गणना शुरू होगी।
ईव्हीएम के मतों की गणना सतत रूप से जारी रखी जायेगी, लेकिन सभी राउण्डों की गणना की घोषणा से पहले डाक मतपत्रों की गणना पूरी की जायेगी।
डाक मतपत्रों से परिणाम प्रभावित होने की स्थिति में डाक मतपत्रों का पुन: सत्यापन अनिवार्य रूप से किया जायेगा। पुन: सत्यापन रिटर्निंग आफिसर तथा प्रेक्षक की उपस्थिति में किया जायेगा और इस प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी की जायेगी।
ईव्हीएम से प्राप्त मतों की राउण्डवार घोषणा पूरे संसदीय क्षेत्र के लिये रिटर्निंग आफिसर द्वारा ही की जायेगी। मतगणना स्थल पर मतदान में उपयोग की गई बीयू#सीयू के नंबर को चस्पा किया जाना अनिवार्य है। प्रत्येक अभ्यार्थी मतगणना टेबल के अलावा रिटर्निंग आफिसर#सहायक रिटर्निंग आफिसर के टेबल पर गणना एजेन्ट नियुक्त कर सकते हैं।


कम्प्यूटर से जानकारी भेजने के लिये रिटर्निंग आफिसर#सहायक रिटर्निंग आफिसर प्रेक्षक के हस्ताक्षरयुक्त प्रतियों का ही उपयोग करेंगे। परिणाम की घोषणा के लिये संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले समस्त विधानसभा क्षेत्र के सहायक रिटर्निंग आफिसर से प्राप्त परिणामों के मिलान के बाद ही आयोग के निर्देशों के अनुरूप परिणाम घोषित कर प्रेषित किया जायेगा।

दिनेश मालवीय#प्रलय श्रीवास्तव