Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
नामांकन के समय निर्वाचन अधिकारी को देना होगी संलग्न प्रपत्रों की सूची मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने राजनैतिक दलों को दी चुनाव आयोग के नये निर्देशों की जानकारी

मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जे.एस. माथुर ने आज मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ एक बैठक में चुनाव आयोग के नये निर्देशों की जानकारी दी। बैठक में राष्ट्रीय व राज्यस्तरीय दलों के अनेक प्रतिनिधि उपस्थित थे।

श्री जे.एस. माथुर ने बताया कि चुनाव आयोग के नये निर्देशों के तहत अब यदि किसी पोलिंग बूथ पर दो घंटे तक मतदान बाधित होता है तो वहां पुन: मतदान कराया जायेगा। नामांकन पत्र दाखिल करते समय उम्मीदवार को संलग्न प्रपत्रों की सूची निर्वाचन पदाधिकारी को देनी होगी, निर्वाचन पदाधिकारी भी उसकी पावती (सूची सहित) उम्मीदवार को देगा। उन्होंने बताया निर्वाचन प्रक्रिया के तहत फार्म ए और बी नामांकन की अंतिम तिथि को अपरान्ह तीन बजे तक संबंधित निर्वाचन पदाधिकारी को जमा कराना होगा। सभी उम्मीदवार अपने सम्पर्क के लिए पते, ई-मेल, टेलीफोन नंबर सार्वजनिक कर सकेंगे।

श्री माथुर ने बताया कि संसदीय क्षेत्र के बाहर तैनात होने वाले मतदानकर्मी अपने मत (वोट) का उपयोग डाक मतपत्र से कर सकेंगे। अपने ही संसदीय क्षेत्र में तैनात होने वाले मतदानकर्मी अपने मत का उपयोग चुनाव कर्तव्य प्रमाण पत्र (ई.डी.सी.) द्वारा कर सकेंगे। जो रिजर्व मतदानकर्मी होंगे उन्हें भी डाक मतपत्र या ईडीसी का उपयोग करने दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि पुलिस बल को निर्वाचन संबंधी नियमावली#आचार संहिता के बारे में पुस्तिका#फिल्म के द्वारा अवगत कराया जायेगा।

बैठक में भारतीय जनता पार्टी, इंडियन नेशनल कांग्रेस, कम्युनिस्ट पार्टी आफ इंडिया (मार्क्सवादी), बहुजन समाज पार्टी, कम्युनिस्ट पार्टी आफ इंडिया, समाजवादी पार्टी व राष्ट्रीय जनता दल के प्रतिनिधि, अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री संजय दुबे, संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री संदीप झा एवं उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जे.सी. भट्ट आदि मौजूद थे।

प्रलय श्रीवास्तव