Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
 

लोकसभा निर्वाचन 2009 के लिए भोपाल संसदीय क्षेत्र में अभ्यर्थियों की संख्या 23 हो जाने से दो बैलेट यूनिट लगाए जायेंगे। एक मशीन में केवल 16 उम्मीदवारों के नाम का बैलेट रहता है। मशीनों की पूर्ति के लिए मंदसौर जिले से 280, उज्जैन से 120, नीमच जिले से 76, खरगौन से 159, विदिशा से 100, रतलाम से 165, झाबुआ से 70, खंडवा से 35, देवास से 60 और राजगढ़ जिले से 193 मशीनें मंगवाई गई हैं। पूर्व में जो 10 प्रतिशत मशीनें आरक्षित रखी गई थी उनमें से भी कल पांच प्रतिशत लगभग 142 मशीनें पर्यवेक्षकों की मौजूदगी में कलेक्टर श्री शिव शेखर शुक्ला ने पुरानी जेल स्थित स्ट्रांग रूम खोलकर निकलवाई थी।

भोपाल संसदीय क्षेत्र के लिए आए सभी पर्यवेक्षकों की मौजूदगी में आज प्रात: 8 बजे बेनजीर कालेज भवन में दूसरे जिलों से मंगाई गई अतिरिक्त मशीनों और आरक्षित में से निकाली गई पांच प्रतिशत मशीनों का रेंडमाइजेशन कार्य किया गया। सात स्थानों पर हो रही ट्रेनिंग के लिए प्रयोग में लाई गई 147 मशीनों में से भी 114 मशीनें मतदान के लिए उपयोग में लाई जायेंगी। इस प्रकार भोपाल संसदीय क्षेत्र के 23 उम्मीदवारों के लिए अब पर्याप्त मात्रा में ईवीएम मशीनें उपलब्ध हो गई हैं।