| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube
मैनिट में हुई घटनाओं की दण्डाधिकारी जांच के आदेश

विगत दिनों एमएसिटी कालेज में हुए झगड़े, शासकीय कार्य में बाधा उत्पन्न करने, तोड़फोड़ करने और छात्र राहुल पाठक की आत्म हत्या जैसी घटनाओं के कारण जिला दण्डाधिकारी श्री शिव शेखर शुक्ला ने दण्ड प्रक्रिया संहिता धारा 1973 की धारा 173 के तहत उक्त घटनाओं की दण्डाधिकारी जांच के आदेश दिए हैं। आदेश में अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री रजनीश श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया है। श्री श्रीवास्तव एक माह के अंदर अपनी जांच पूर्ण कर जिला दण्डाधिकारी श्री शुक्ला को रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे।

श्री रजनीश श्रीवास्तव जिन बिन्दुओं पर मैनिट संस्थान में हुई घटनाओं की जांच करेंगे उनमें 2 अप्रैल 09 को मैनिट केम्पस में क्या घटना हुई, वे कौन सी परिस्थितियां थी जिनके कारण 2 अप्रैल को मैनिट केम्पस में तनाव उत्पन्न हुआ। इस घटना में किसकी क्या भूमिका थी और कौन दोषी है, पिछले एक वर्ष से मैनिट में ऐसे कौन से कारण उत्पन्न होते रहे हैं जिससे लगातार तनाव का माहौल बना हुआ है और जिसके कारण छात्रों और कर्मचारियों में बार-बार आक्रोश की स्थिति बनती है, उपरोक्त परिस्थितियों के लिए कौन-कौन लोग जिम्मेदार हैं, मैनिट केम्पस में आंतरिक सुरक्षा के लिए क्या व्यवस्था है, 2 अप्रैल 09 की घटना के दौरान आंतरिक सुरक्षा के लिए तैनात एजेंसी की क्या भूमिका रही, मैनिट के शीर्ष प्रबंधन की क्या भूमिका रही, मैनिट में गत दो वर्षों के भीतर किस किस एजेंसी द्वारा किन मुध्दों पर जांच की जा रही है और जांच की अद्यतन स्थिति क्या है, मैनिट में शासकीय व्यवस्थाओं में क्या किन्हीं बाहरी व्यक्तियों का हस्तक्षेप है यदि हां तो वो व्यक्ति कौन हैं और हस्तक्षेप के क्या कारण हैं, ऐसे व्यक्तियों के विरूध्द क्या कार्रवाई किया जाना प्रस्तावित है और ऐसे कुछ बिन्दु जो जांच के दौरान उत्पन्न प्रतीत हों। ऐसे सभी बिन्दुओं पर श्री श्रीवास्तव जांच पूर्ण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगें।

कमर अली शाह