| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube
एक दिन पहले मतदान केन्द्र पहुँचेंगे मतदान दल
मतदान की गोपनीयता के साथ ही ईव्हीएम की सुरक्षा का पूरा ध्यान

मध्यप्रदेश में 23 अप्रैल को पहले चरण में 13 संसदीय क्षेत्रों में होने वाले मतदान के लिए मतदान दल उनके लिए नियत मतदान केन्द्रों पर एक दिन पहले पहुंचकर मतदान केन्द्र को सुव्यवस्थित करवायेंगे। कुछ दुर्गम स्थलों के मतदान केन्द्रों पर मतदान दल दो दिन पहले पहुँचेंगे। इस संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारियों द्वारा मांग किये जाने पर उन्हें अनुमति दी गई है। मतदान प्रकोष्ठ कमरे के ऐसे कोने में होगा, जिससे कि मतदाता अपना मत पूर्ण गोपनीयता से रिकार्ड कर सके। मतदान दल के सदस्य मतदान शुरू होने के कम से कम एक घंटा पहले मतदान केन्द्र में अपना स्थान ग्रहण करेंगे।

इसी तरह मतदान मशीन मतदान शुरू होने के लिए नियत समय से एक घंटे से अधिक समय पहले मतदान केन्द्र पर व्यवस्थित नहीं की जायेगी। ईव्हीएम को किसी भी परिस्थिति में मतदान के दिन की पूर्ववर्ती रात को मतदान केन्द्र पर नहीं छोड़ा जायेगा। इस संबंध में सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों द्वारा पीठासीन अधिकारियों को सख्त हिदायत दी गई है। उनसे यह सुनिश्चित करने को कहा गया है कि मतदान केन्द्र पर इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन पूरे समय पूर्ण सुरक्षा में रखी जाए।

मतदान केन्द्र पर तैनात पीठासीन अधिकारियों को ऐसे स्थान पर बैठने को कहा गया है, जहां से वह मतदान केन्द्र की सभी कार्यवाहियों पर निगरानी रख सकें। पीठासीन अधिकारी पोलिंग एजेंट के मतदान केन्द्र पर पहुंचने पर उसको अभ्यर्थी या मतदान अभिकर्ता द्वारा जारी नियुक्ति पत्र की जाँच करेंगे। अभ्यर्थी और मतदान अभिकर्ता के हस्ताक्षर को रिटर्निंग आफीसर द्वारा दिये गये दस्तावेजों से सत्यापित किया जायेगा। चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के पोलिंग एजेन्टों को मतदान शुरू होने के कम से कम एक घंटा पहले मतदान केन्द्र पहुंचने को कहा गया है क्योंकि इस एक घंटे के समय के दौरान पीठासीन अधिकारी मतदान मशीन पर, विशिष्ट रूप से नियंत्रण यूनिट पर, आवश्यक तैयारियां करेगा। साथ ही आधा घंटा पहले मॉक पोल भी सम्पन्न करायेगा।

हालांकि प्रत्येक प्रत्याशी को एक अतिरिक्त पोलिंग एजेन्ट नियुक्त करने का अधिकार है, परंतु एक समय में दो पोलिंग एजेंट मतदान केन्द्र के अन्दर नहीं रह सकेंगे। पीठासीन अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये गये हैं कि वे किसी भी परिस्थिति में मतदान अभिकर्ताओं को मतदान समाप्ति के दो घंटे पूर्व उपस्थित अभिकर्ता के स्थान पर किसी दूसरे अभिकर्ता को न बदलने दें।

दिनेश मालवीय /प्रलय श्रीवास्तव