| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube
 

आगामी लोकसभा चुनावों के लिए कोई भी राजनैतिक दल या व्यक्ति शिक्षण संस्थाओं और उनके मैदानों का उपयोग प्रचार तथा रैली के लिए नहीं कर सकेगा। चुनाव आयोग ने इस संबंध में सख्त हिदायत दी है। इनमें सरकारी अनुदान प्राप्त तथा निजी शिक्षण संस्थाएं भी शामिल है।

इसके आलावा, रैलियों तथा जुलूस में झंडे, बैनर, कट आउट वगैरह का उपयोग स्थानीय कानून और प्रतिबंधात्मक आदेशों के अनुसार होगा। ऐसे जुलूस में राजनैतिक दल अथवा उम्मीदवार द्वारा उपलब्ध कराई गयी टोपियां, मास्क, गमछे आदि तो पहने जा सकेगें, लेकिन इनमें साड़ियों, शट्र्स आदि का वितरण नहीं होगा।


प्रलय श्रीवास्तव#दिनेश मालवीय