Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
 
भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर प्रदेश के लोकसभा निर्वाचन के सुचारू संचालन के लिये क्रियान्वित किये गये कम्युनिकेशन प्लान से मतदान दिवस 23 अप्रैल के पल प्रति पल की जानकारी मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय को प्राप्त होती रही। शुरू से ही कम्युनिकेशन प्लान को अत्याधिक महत्व दे रहे मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय ने मतदान दिवस के लिये इसकी व्यापक व्यवस्था की थी। कम्युनिकेशन प्लान की पुख्ता व्यवस्था के कारण सबसे पहले बैतूल संसदीय क्षेत्र के मुलताई के मतदान का प्रतिशत मतदान खत्म होने के मात्र 3 मिनिट के भीतर प्राप्त हो गया था।
भोपाल स्थित निर्वाचन सदन के तृतीय तल पर कम्युनिकेशन टीम को तैनात कर जहां 13 संसदीय क्षेत्रों के प्रत्येक मतदान केन्द्र पर नजर रखी गई थी, वहीं उनसे जिला निर्वाचन पदाधिकारी को प्राप्त जानकारी भी निरंतर प्राप्त की जा रही थी। इतना ही नहीं इन संसदीय क्षेत्रों में हो रहे मतदान, विभिन्न सूचनाओं तथा घटनाओं की जानकारी भी भारत निर्वाचन आयोग को भेजी जा रही थी। कम्युनिकेशन प्लान में जिला निर्वाचन अधिकारी से लेकर चुनाव डयूटी में लगे निचले स्तर के कर्मचारियों को भी शामिल किया गया था। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय स्थित विशेष कक्ष में कम्युनिकेशन प्लान को बेहतर तरीके से संचालित किया गया। इस टीम में 28 सदस्य शामिल थे। राज्य प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारियों को भी इस कार्य से जोड़ा गया था।
उल्लेखनीय है कि कम्युनिकेशन प्लान लागू करने के पूर्व इसका मॉक ट्रायल भी किया गया था। तत्कालीन चुनाव आयुक्त एवं वर्तमान में मुख्य चुनाव आयुक्त श्री नवीन चावला ने अपने मध्यप्रदेश दौरान कम्युनिकेशन प्लान के बेहतर उपयोग पर जोर दिया था।
 

दिनेश मालवीय / प्रलय श्रीवास्तव