| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube
वीडियो कान्फ्रेसिंग के जरिये जिलों को निर्देश

ध्वनि प्रदूषण रोकने तथा जनसामान्य को होने वाली असुविधा को ध्यान में रखकर चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव के संदर्भ में लाउडस्पीकर के उपयोग के संबंध में हिदायतें दी हैं। इनके अनुसार ग्रामीण क्षेत्रों में सुबह छह बजे से रात को ग्यारह बजे तक और शहरी क्षेत्रों में सुबह छह बजे से रात दस बजे तक ही लाउडस्पीकर का उपयोग किया जा सकेगा। ग्रामीण क्षेत्रों से तात्पर्य उन क्षेत्रों से है, जो नगर निगम अथवा नगरपालिका सीमा से बाहर हैं। राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने सभी कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारियों को इन निर्देशों का सख्ती से पालन कराने को कहा है। इस निर्धारित समय सीमा से बाहर लाउडस्पीकर का किसी भी तरह से उपयोग वर्जित होगा, चाहे वह सामान्य प्रचार के लिये हो या आम सभा और जुलूस के लिए। वाहनों पर लगे लाउडस्पीकर का भी इस समयसीमा के भीतर ही उपयोग किया जा सकेगा। ये निर्देश चुनाव परिणाम घोषित होने तक लागू रहेंगे। समय सीमा के बाद उपयोग किये जाने वाले लाउडस्पीकर को सभी संबंधित उपकरणों के साथ जब्त कर लिया जाएगा। चलते वाहन पर अथवा किसी भी जगह लाउडस्पीकर का उपयोग करने वाले सभी राजनैतिक दल, उम्मीदवार तथा अन्य संबंधित लोग इसकी सूचना निर्वाचन क्षेत्र के रिटर्निंग अफसर को देंगे। वे स्थानीय पुलिस अधिकारियों को भी इस संबंध में प्राप्त अनुमति की विवरण सहित लिखित सूचना देंगे। वाहन पर लाउडस्पीकर के उपयोग के मामले में वे रिटर्निंग अफसर तथा स्थानीय पुलिस अधिकारियों के पास संबंधित वाहनों के पंजीयन#पहचान क्रमांक भी दर्ज कराएंगे।

दिनेश मालवीय#प्रलय श्रीवास्तव