| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube
मुख्य चुनाव आयुक्त द्वारा राज्यों के पुलिस महानिदेशकों तथा
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग

भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त श्री नवीन चावला ने राज्यों को निर्देश दिये हैं कि मतदान से पूर्व शराब के परिवहन एवं वितरण पर सख्ती से रोक लगाई जाये और बार्डर सीलिंग पर कड़ाई से पालन किया जाये। उन्होंने कहा कि यह बात ध्यान आई है कि शराब के परिवहन पर प्रभावी रूप से अंकुश नहीं लग पा रहा है। श्री चावला ने कहा कि शराब के परिवहन के साथ-साथ उसके भण्डारण और निकासी के स्थानों पर कड़ाई से नजर रखी जाये। वीडियो कांफ्रेंसिंग में निर्वाचन आयुक्त श्री एस.वाय. कुरैशी और व्ही.एस. सम्पत, प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जे.एस. माथुर और पुलिस महानिदेशक श्री एस.के. राऊत ने भाग लिया।

श्री चावला ने सभी मुख्य निर्वाचन पदाधिकारियों से कहा कि वे जिलावार समीक्षा कर पूरी स्थिति का जायजा लें। आपराधिक रिकार्ड वाले उम्मीदवारों की वीडियो रिकार्डिंग की जाये। उन्होंने कहा कि चुनाव का समय है तो थोड़ी बहुत गतिविधियां तो लाज़िमी है, लेकिन हुड़दंगी तत्वों को शांति भंग न करने दी जाये। उन्होंने कहा कि बना नंबर प्लेट वाली अथवा नकली नंबर प्लेट वाली वाहनों को पकड़ा जाये।

पुलिस महा निदेशक श्री एस.के. राऊत ने बताया कि राजस्थान व उ.प्र. सहित सभी पड़ोसी राज्यों के साथ बार्डर सीलिंग की पुख्ता व्यवस्था की गई है तथा बाहरी तत्वों के प्रदेश में प्रवेश पर अंकुश लगाया गया है। सभी संबध्द राज्यों के अधिकारी लगातार आपस में बैठकें कर रहे हैं। बीते कुछ ही दिनों में भारी मात्रा में अवैध शराब पकड़ी गई है। प्रदेश में संदिग्ध तत्वों पर प्रतिबंधात्मक कार्यवाई करते हुए उन पर पूरी नजर रखी जा रही है। संवेदनशील क्षेत्रों में वल्नरेबिलिटी मेपिंग में पहचान किए गए व्यक्तियों पर की गई कार्यवाई की एक्शन टेकन रिपोर्ट प्राप्त की गई है। उन्होंने कहा कि शांतिपूर्ण मतदान के लिये चाकचौबंद व्यवस्था की गई है और किसी भी स्तर पर लापरवाही नहीं होगी। बैठक में पुलिस महानिरीक्षक सुरक्षा श्री संजीव कुमार सिंह, पुलिस महानिरीक्षक गुप्तवार्ता श्री सुरेन्द्र सिंह भी मौजूद थे।

दिनेश मालवीय#प्रलय श्रीवास्तव