| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube
     तैनात होगा सक्षम प्रभारी
संचार सुविधा जुटेगी

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए 8 दिसंबर को प्रत्येक जिला मुख्यालय पर होने वाली मतगणना की तैयारियाँ जोर पकड़ चुकी हैं। हर मतगणना स्थल पर मीडिया सेंटर भी कायम किया जा रहा है। इसका प्रभार एक जिम्मेदार और सक्षम अफसर को सौंपा जाएगा। मीडिया कव्हरेज के लिए संचार की जरूरी सुविधाएं इस सेंटर पर जुटाई जाएंगी। चुनाव आयोग ने इस सिलसिले में गाइड लाईन दी है।
निर्वाचन प्रक्रिया की एक और अहम कड़ी के बतौर अब मतगणना की तैयारियों पर अपना ध्यान आयोग और प्रशासनिक तंत्र ने केन्द्रित कर दिया है। इसी मकसद से आज भोपाल आए चुनाव आयोग के सचिव श्री रितविक पाण्डे और प्रिंसिपल सिस्टम एनालिस्ट श्री राजीव मोहन ने प्रदेश के सभी जिलों के मतगणना और तकनीकी अधिकारियों को बाकायदा ट्रेनिंग भी दी। इन्हें मतगणना के लिए तैयार किए जाने वाले साफ्टवेयर और इस कार्य की समूची प्रक्रिया से अवगत कराया गया। यह कार्य आयोग की वेबसाइट के लिए किया जाएगा।
आयोग ने मतगणना केन्द्र में एक उपयुक्त स्थान पर मीडिया सेंटर भी कायम करने को कहा है। इसके लिए पर्याप्त आकार का एक पृथक कक्ष कायम किया जाएगा। मीडिया सेंटर पर सूचना संप्रेषण संचार की वाजिब और जरूरी सहूलियतें जुटाई जाएंगी। इसके लिए किसी वरिष्ठ अफसर को प्रभारी के बतौर वहां अलग से तैनात किया जाएगा। यह अफसर सहायक रिटर्निंग अफसर स्तर का या जनसंपर्क विभाग का होगा। इन्हें रिटर्निंग अफसर की ओर से इस कार्य के लिए सक्षमता से कार्य करना होगा। लघु अवधि के सीमित ऑडियो और वीडियो कव्हरेज की इजाजत दी जा सकेगी। यह भी कहा गया है कि मीडिया प्रभारी की इस काम में मदद के लिए पर्याप्त संख्या में वहाँ अफसर और कर्मचारी भी तैनात किए जाएं। यह व्यवस्था मीडिया संभव तौर पर को संयोजित कर मतगणना हॉल में समय-समय पर उनके भ्रमण करने के लिए की जाएगी। इसके लिए संबंधित अफसरों की पहचान और उन्हें यह जिम्मेदारी सौंपने का काम पहले से किया जाएगा।
मीडिया सेंटर की स्थापना मतगणना के प्रमुख हॉल से थोड़ी दूरी पर की जाएगी। एक से अधिक विधानसभा क्षेत्रों की एक ही केन्द्र पर अनेक हॉल में मतगणना होने की स्थिति में इसके हिसाब से मीडिया पास जारी किए जाएंगे। ये 'मतगणना केन्द्रवार' दिए जाएंगे। यदि गणना प्रक्रिया को कवर करने वाले अधिकृत पास धारक चाहें तो उन्हें इस दौरान मतगणना हॉल के बाहर आने और वहाँ पुन: प्रवेश की अनुमति भी दी जाएगी। इस प्रक्रिया और व्यवस्था के दौरान लेकिन कानून-व्यवस्था, गरिमा और मतगणना का शांतिपूर्वक संचालन भी सुनिश्चित किया जाएगा।

योगेश शर्मा