Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts
रणनीति के तहत होगा काम
चुनाव आयोग के निर्देश

चुनाव आयोग ने राजस्थान बार्डर पर एक रणनीति के तहत पूरी चौकसी बरतने के निर्देश दिए हैं। इस सिलसिले में की जाने वाली सघन जाँच के दायरे में दोनों राज्यों से गाड़ियों, असामाजिक तत्वों, शराब, हथियार और बगैर हिसाब की नगद राशि का परिवहन शामिल होगा।
प्रदेश के मुख्य सचिव से कहा गया है कि राजस्थान से लगे प्रदेश के जिलों में कड़ी चौकसी के उपाय तत्काल किए जाएं। इसके अलावा ऐहतियाती जरूरी कदम भी उठाए जाएं। निर्देशों में कहा गया है कि राजस्थान से आने और वहाँ जाने वाली गाड़ियों की कड़ी जाँच की जाए। जाँच का यह सिलसिला दिन के साथ ही रात में भी चलेगा। इसके लिए निर्धारित जाँच चौकियों के साथ ही चलित रूप से भी जाँच की जाएगी। यह कार्रवाई आकस्मिक रूप से की जाएगी। यह पूरा काम दोनों राज्य एक दूसरे से मशविरा कर अंजाम देंगे।
आयोग ने असामाजिक तत्वों की दोनों राज्यों में आवाजाही रोकने के लिए मतदान समाप्ति के 48 घंटों के दौरान सीमाएं सील करने को कहा है। आयोग ने यह हिदायत राजस्थान में भी होने जा रहे विधानसभा चुनाव के दौरान वहाँ किए जाने वाले इंतजाम की समीक्षा के बाद दी है। आयोग ने दोनों राज्यों की सीमाओं से असामाजिक तत्वों की आवाजाही पर नज़र और उन पर काबू को जरूरी बताया है। उसका मानना है कि निर्वाचन अपराध करने ओर बाद में वहाँ से बच निकलने के लिए ये तत्व सीमाओं का सहारा ले सकते हैं। ये निर्देश सीमावर्ती सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को दिए गए हैं।

योगेश शर्मा