| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube
47 हजार 209 केन्द्रों पर पड़ेंगे वोट पिछले चुनाव से 4933 सहायक केन्द्रों की तादाद 397

मध्यप्रदेश में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में नामजदगी और वापसी के पहले चरण के सफलतापूर्वक संपन्न होने के बाद अब मतदान के अगले पड़ाव की प्रशासनिक तैयारियाँ तेज हो चुकी हैं। मतदान केन्द्र अंतिम रूप से तय हो चुके हैं, लिहाजा इस चुनाव में कुल 47 हजार 209 केन्द्रों पर मतदाता वोट डाल सकेंगे। चुनाव आयोग ने जरूरत के मुताबिक इस बार 397 सहायक मतदान केन्द्र मंजूर किए हैं जो कुल मतदान केन्द्रों में शामिल हैं। अगर पिछले विधानसभा से इनकी तुलना करें तो इस बार मतदान केन्द्रों की तादाद में कुल चार हजार 933 केन्द्रों की बढ़त हुई है।
इस बार सर्वाधिक 1965 मतदान केन्द्रों के साथ नौ विधानसभा क्षेत्रों वाला इंदौर जिला है। जहाँ तक सबसे कम मतदान केन्द्रों की बात है तो वहाँ दो विधानसभा क्षेत्रों के श्योपुर जिले का नाम 389 मतदान केन्द्रों के साथ दर्ज है। विधानसभा क्षेत्रवार मतदान केन्द्रों की सबसे ज्यादा तादाद वाला सिवनी जिले का अनुसूचित जनजाति सुरक्षित विधानसभा क्षेत्र लखनादौन है जहाँ मतदान केन्द्रों की तादाद 315 है। इसी तरह सबसे कम मतदान केन्द्रों वाले विधानसभा क्षेत्र में ग्वालियर जिले के ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र का नाम है जहाँ 132 मतदान केन्द्र हैं।
मतदान केन्द्रों का जिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है - श्योपुर कुल 389 और 9 सहायक मतदान केन्द्र, मुरैना 1116 और 5 सहायक, भिण्ड 1127 और 2 सहायक, ग्वालियर 1008 और 88 सहायक, दतिया कुल 530, शिवपुरी 1057 और 8 सहायक, गुना 759 और 1 सहायक, अशोक नगर 625, सागर 1420 और 9 सहायक, टीकगमगढ़ कुल 895, छतरपुर 1192 और 6 सहायक, दमोह कुल 914, पन्ना कुल 680, सतना 1391 और 7 सहायक, रीवा 1451 और 1 सहायक, छतरपुर 1192 और 6 सहायक, दमोह कुल 914, पन्ना 680, सतना 1391 और 7 सहायक, रीवा 1451 और 1 सहायक, सीधी 747 और 1 सहायक, सिंगरौली कुल 498, शहडोल 734 और एक सहायक, अनूपपुर 522 और 1 सहायक, उमरिया 411 और 6 सहायक, कटनी कुल 880, जबलपुर 1493 और 66 सहायक, डिण्डोरी कुल 562, मण्डला कुल 855, बालाघाट कुल 1279, सिवनी 1073 और 7 सहायक, नरसिंहपुर कुल 842, छिंदवाड़ा 1452 और 25 सहायक, बैतूल 1142 और 8 सहायक, हरदा 394 और 1 सहायक, होशंगाबाद 880 और 8 सहायक, रायसेन 943 और 1 सहायक, विदिशा 1048 और 2 सहायक, भोपाल 1271 और 80 सहायक, सीहोर कुल 871, राजगढ़ 1110 और 1 सहायक, शाजापुर कुल 1123, देवास कुल 1024, खण्डवा 878 और 3 सहायक, बुरहानपुर 482 और 1 सहायक, खरगौन 1144 और 2 सहायक, बड़वानी 758 और 3 सहायक, झाबुआ कुल 591, अलीराजपुर कुल 401, धार कुल 1145 और 1 सहायक, इंदौर कुल 1965, उज्जैन 1294 और 41 सहायक, रतलाम कुल 944, मंदसौर 940 और 1 सहायक तथा नीमच जिले में कुल 557 मतदान केन्द्रों पर वोट डाले जा सकेंगे।
सहायक मतदान केन्द्र
चुनाव आयोग ने विभिन्न जिलों की माँग के तहत आवश्यकता के अनुरूप सहायक मतदान केन्द्र भी मंजूर किए हैं। इस सिलसिले में सर्वाधिक 88 सहायक मतदान केन्द्र 6 विधानसभा क्षेत्रों वाले ग्वालियर जिले के लिए मंजूर किए हैं। जिलेवार मंजूर सहायक मतदान केन्द्रों का ब्यौरा इस प्रकार है ग्वालियर 88, भोपाल 80, जबलपुर 66, उज्जैन 41, छिंदवाड़ा 25, सागर और श्योपुर 9-9, शिवपुरी, होशंगाबाद और बैतूल 8-8, सिवनी और सतना 7-7, छतरपुर और उमरिया 6-6, मुरैना 5, खण्डवा और बड़वानी 3-3, भिण्ड, अनूपपुर, विदिशा और खरगौन 2-2 तथा गुना, रीवा, सीधी, शहडोल, हरदा, रायसेन, राजगढ़, बुरहानपुर, धार, रतलाम और मंदसौर जिले में 1-1 सहायक मतदान केन्द्र मंजूर किया गया है। कुछ जिले ऐसे हैं जहाँ एक भी सहायक मतदान केन्द्र नहीं रहेगा और इनमें दतिया, अशोकनगर, टीकमगढ़, दमोह, पन्ना, सिंगरौली, कटनी, डिण्डोरी, मण्डला, बालाघाट, नरसिंहपुर, सीहोर, शाजापुर, देवास, झाबुआ, अलीराजपुर, इंदौर और नीमच जिले शामिल हैं।
योगेश शर्मा