| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube
25 महिलाओं ने हासिल किया रूतबा
बुरहानपुर की उम्मीदवार को मिले सर्वाधिक वोट
इस बार छह ज्यादा महिलाएं जीतीं

हाल ही में संपन्न हुए मध्यप्रदेश की 13वीं विधानसभा के चुनाव में कुल 25 महिलाओं ने नुमाइंदगी का रूतबा हासिल किया है। इनमें सर्वाधिक 85 हजार 362 वोट बटोरने की हकदार बुरहानपुर सीट जीतने वाली भाजपा प्रत्याशी अर्चना दीदी बनीं। पिछले चुनाव से यदि तुलना करें तो इस बार पाँच महिला विधायकों का इजाफा हुआ है।
इस बार के विधानसभा चुनाव का मैदान कुल 3179 उम्मीदवारों से भरापूरा था और इसमें महिला प्रत्याशियों की तादाद सिर्फ 221 थी। महिलाओं के नुमाइंदगी के लिए आगे बढ़े कदमों का सहारा बनने वाले विभिन्न राजनैतिक दल तो थे ही, कई महिलाओं ने खुद के बल पर निर्दलीय उम्मीदवार के बतौर मंजिल तक पहुँचने की ठानी थी। मजबूत इरादे और कड़ी मेहनत का बेहतर नतीजा सिर्फ 25 महिलाओं के खाते में ही गया। बावजूद इसके इस बार पाँच ज्यादा महिलाएं विधायक बनी हैं क्योंकि पिछले विधानसभा चुनाव जीत कर सिर्फ 19 महिलाएं सदन में पहुँच सकी थीं।
विधानसभा चुनाव का मोर्चा बहुत विस्तृत और तगड़ा भी होता है। स्वाभाविक ही इस पर पहुँचने वालों में दम भरने का काम विभिन्न राजनैतिक दल करते हैं। लेकिन निर्दलीय उम्मीदवार के बतौर अकेले इस जंग में कूद पड़ना भी कम नहीं आंका जा सकता है। इस बार लेकिन इस हैसियत में चुनाव लड़ने वाली कोई महिला जीत का परचम नहीं फहरा पाई।
दूसरी ओर 25 वो महिलाएँ जिन्होंने राजनैतिक दलों का दामन थामा था, इस चुनाव में बाजी जीत चुकी हैं। जीतने वाली कुल 25 महिला उम्मीदवारों में से सर्वाधिक 15 भारतीय जनता पार्टी की हैं। इनके अलावा 8 ने इंडियन नेशनल काँग्रेस और 1-1 ने भारतीय जनशक्ति पार्टी तथा समाजवादी पार्टी से नाता जोड़ा था।
सर्वाधिक 85 हजार 362 मतों के साथ बुरहानपुर सीट से चुनाव जीतने वाली अर्चना दीदी को अपने क्षेत्र में कुछ वैध मतों का 55.61 प्रतिशत हिस्सा बटोरने में भी कामयाबी मिली है। इसी दल की उनकी जीत का अंतर भी महिला उम्मीदवारों में सर्वाधिक 32 हजार 854 मतों का था। दूसरे क्रम पर भाजपा की ही इंदौर-4 क्षेत्र प्रत्याशी मालिनी लक्ष्मण सिंह गौड़ ने कुल 63 हजार 920 मत प्राप्त कर कुल मतों का 62.18 प्रतिशत हिस्सा हासिल किया और 28 हजार 43 मतों के अंतर से चुनाव जीता।
अन्य विजयी महिला उम्मीदवारों में इनेकां की डबरा (अजा) सीट प्रत्याशी इमरती देवी ने 10 हजार 630 मतों से, निवाड़ी से सपा प्रत्याशी मीरा दीपक यादव ने 15 हजार 174, छतरपुर से भाजपा की ललिता यादव ने 7855, बिजावर से भाजपा की आशारानी ने 2071, मलहरा से भारतीय जनशक्ति पार्टी (भाजश) की रेखा ने 6522, हटा से भाजपा की उमादेवी खटीक ने 10 हजार 898, मनगंवा (अजा) से भाजपा की पन्ना बाई प्रजापति ने 3199, मानपुर (अजजा) से भाजपा की मीना सिंह ने 17 हजार 704, बरगी से भाजपा की प्रतिभा सिंह ने 17 हजार 602, सिहोरा (अजजा) से भाजपा की नंदनी मरावी ने 16 हजार 755, शहपुरा (अजजा) से इनेकां की गंगाबाई उरैती ने 19 हजार 966, सिवनी से भाजपा की नीता पटैरिया ने 12 हजार 484, लखनादौन (अजजा) से भाजपा की शशि ठाकुर मरावी ने 4998, गाडरवारा से इनेकां की साधना स्थापक ने 6103, घोड़ाडोंगरी (अजजा) से भाजपा की गीता रामजीलाल उइके ने 4127, महेश्वर (अजा) से इनेकां की डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने 673, जोबट (अजजा) से इनेकां की सुलोचना रावत ने 4560, कुक्षी (अजजा) से इनेकां की जमुना देवी ने 10 हजार 798, मनावर (अजजा) से भाजपा की रंजना बघेल ने 2034, रतलाम ग्रामीण (अजजा) से इनेकां की लक्ष्मीदेवी खुराडी ने 2551, महीदपुर से इनेकां की डॉ. कल्पना परूलेकर ने 1849 और धार विधानसभा क्षेत्र से भाजपा की नीना विक्रम वर्मा ने 1 मत से जीत हासिल की है। इसी तरह बीना (अजा) से भाजपा की डॉ. विनोद पंथी चुनाव जीतीं हैं और उन्हें 23 हजार 106 मत मिले हैं।
इस चुनाव में 163 महिलाएं जो विभिन्न राजनैतिक दलों के साथ या निर्दलीय उम्मीदवार के बतौर चुनाव लड़ी थीं, उनकी जमानत जप्त हो गई। लेकिन 34 महिला उम्मीदवार ऐसी थीं जिन्होंने चुनाव हार कर भी जमानत तो बचा ही ली।

योगेश शर्मा