Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
चलेगा विशेष अभियान कलेक्टरों को इत्तेला

आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए प्रदेश में निर्वाचन काम से जुड़े अफसरों का ध्यान अब वोटर लिस्टों की तैयारी और दुरुस्ती पर केन्द्रित हो गया है। चुनाव आयोग साफ कर चुका है कि इन लिस्टों में किसी तरह की खामी, मतदाता फोटो परिचय पत्र तैयारी और वितरण के काम में किसी कोताही और इसके चलते एक्शन की गुंजाइश न रह जाए। इसी कड़ी में सर्विस वोटरों (सेवा निर्वाचकों) के भी सूची में नाम दर्ज कराने को तरजीह दी गई है। इसके लिए सभी जिलों में बाकायदा अभियान छेड़े जाने की इत्तेला मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जे.एम. माथुर ने कलेक्टरों को कर दी है।
यह अभियान चुनाव आयोग के निर्देश पर ही चलेगा और कहा यह गया है कि किसी सर्विस वोटर का नाम सूची में चढ़ने से छूट न जाए। इस काम में ऐसे वोटरों की सहूलियत को देखते हुए उनके डाटास (जानकारी) वेबसाईट पर प्रदर्शित करवाने को भी कहा गया है। जिला निर्वाचन अधिकारी इस मकसद से सर्विस वोटरों की स्थानीय आर्मी यूनिट से तालमेल करके इनके नाम मतदाता सूचियों में दर्ज करायेंगे।
29 दिसम्बर तक बंटना है ईपिक
चुनाव आयोग की प्रदेश के सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को हिदायत है कि शेष रहे वोटरों को हर हालत में ईपिक (आयोग द्वारा जारी मतदाता फोटो पहचान पत्र) 29 दिसम्बर तक बंट जाए। इसमें किसी शक या इसको लेकर अनुशासनात्मक कार्रवाई की संभावना को खत्म करने के लिए मुस्तैदी की सलाह इन अफसरों को दे दी गई है। आयोग लोकसभा चुनाव में हर मतदाता द्वारा ईपिक के आधार पर ही वोट डाले जाने का पक्षधर है।

योगेश शर्मा