Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts
 
भोपाल : 18 दिसम्बर, 2013
 

अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री व्ही.एल. कान्ता राव की उपस्थिति में बुधवार को निर्वाचन कार्यालय में वीडियो कान्फ्रेंसिंग हुई। इस अवसर पर संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री एस.एस. बंसल और स्वीप प्लान के राज्य नोडल अधिकारी श्री एस.एस. बघेल भी उपस्थित थे।

वी.सी. में श्री कान्ता राव ने कहा कि राज्य के विभिन्न मतदान केन्द्रों पर विगत 16 दिसम्बर से नये मतदाताओं के नाम जोड़ने की शुरू की गई कार्यवाही को त्रुटि रहित रखने के सभी उपाय किए जाएं। मतदाताओं के जन्म की तिथि सही ढंग से अंकित की जाए। श्री राव ने जानकारी दी कि विगत चुनाव में महिलाओं का मतदान तुलनात्मक पाँच प्रतिशत बढ़ा है, जबकि पुरूष मतदान में केवल दो प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में अब ज्यादा समय नहीं रह गया है, इसीलिए मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण के साथ ही मतदाता जागरूकता का कार्य भी अधिक प्रभावी तरीके से किया जाए। उन्होंने वी.सी. में प्रतिभागी जिलों के पदाधिकारियों को जानकारी दी कि राज्य के सभी जिलों को विश्‍लेषणात्मक आँकड़े भेजे गए हैं। इन आँकड़ों के आधार पर वे जनसंख्या-मतदाता अनुपात के अनुसार कार्ययोजना बनाकर नये मतदाता जोड़ने के काम को सुव्यवस्थित ढंग से कर सकते हैं। श्री राव ने कहा कि इस बार राज्य में 10 लाख नये मतदाता जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। दिनांक 31 दिसम्बर, 2013 तक इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सभी प्रयत्न किए जाएं। श्री राव ने सभी जिलों के पदाधिकारियों से उनकी कार्ययोजना की जानकारी ली। श्री राव ने कहा कि जिन विभागों के अधिकारी स्वीप प्लान से जुड़े हुए हैं वे मैदानी इलाकों में जागरूकता शिविर लगाकर अधिकाधिक लोगों के नाम मतदाता सूची में जोड़ने का काम करें। श्री कान्ता राव ने कहा कि जिन शिक्षण संस्थाओं द्वारा मतदाता जोड़ने के कार्यक्रम में श्रेष्ठ कार्य किया जायेगा उनके चयनित दो कर्मचारी को राज्यपाल से आगामी 25 जनवरी, 2014 को राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर सम्मानित करवाया जाएगा। श्री राव ने इस हेतु कुछ विशेष कार्यक्रम अपनाकर प्रचार-प्रसार करने की आवश्यकता भी बताई।

संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री एस.एस. बंसल ने कहा कि सीधी जिले सहित अन्य कुछ जिलों में महिला-पुरूष मतदाताओं के अनुपात में उल्लेखनीय अंतर है। इस अंतर को कम करने के लिए विशेष प्रयासों की आवश्यकता है। इसी प्रकार जनसंख्या और मतदाताओं के अनुपात का आंकलन कर नये मतदाताओं को जोड़ने की पहल की जाए। विभिन्न शिक्षण संस्थाओं के विद्यार्थियों में भी मतदाता जागरूकता का प्रचार कर उनके माध्यम से उनके अभिभावकों को 18 वर्ष पूर्ण हुए या हो रहे परिवार के सदस्यों के नाम सूचियों में दर्ज करवाने की कार्यवाही करें। नए मतदाताओं को जोड़ने के लिए बीएलओ का सहयोग लिया जाए तथा उन्हें ऐसे संदेश एसएमएस कर भेजे जाएं। वी.सी. में सीहोर, रायसेन, विदिशा, मंदसौर, शाजापुर, देवास, इंदौर, धार, टीकमगढ़, सीधी, रीवा, डिण्डोरी, मण्डला, जबलपुर, मुरैना जिले के स्वीप प्लान से जुड़े विभागीय अधिकारियों से चर्चा की गई। वीडियो कान्फ्रेंसिंग में आदिम-जाति विकास, राज्य शिक्षा केन्द्र, नेहरू युवा केन्द्र, महिला-बाल विकास तथा प्रौढ़ शिक्षा विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

मुकेश मोदी
पिछला पृष्ठ