Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts
मध्यप्रदेश संदेश इस अंक में
मध्यप्रदेश शासन का
मासिक प्रकाशन

वर्ष 113 : अंक-5
मई-2017
शक 1938-39
वैशाख-ज्येष्ठ

प्रकाशक
अनुपम राजन
आयुक्त, जनसम्पर्क

प्रधान सम्पादक
अनिल माथुर

सम्पादक
मनोज खरे

सम्पर्क
जनसम्पर्क संचालनालय
जनसम्पर्क भवन
बाणगंगा, भोपाल-462003

टेलीफोन- 4096318, 4096331
ई-मेल
mpsandesh9@gmail.com
मध्यप्रदेश संदेश वेबसाइट
www.mpinfo.org
पर उपलब्ध
मध्यप्रदेश संदेश में व्यक्त विचार लेखकों के अपने है, यह जरूरी नहीं कि शासन उनसे सहमत हो।

मूल्य : एक प्रति 10 रुपये
वार्षिक शुल्क 100 रुपये


कृपया संपादक मध्यप्रदेश संदेश भोपाल के नाम बैंक ड्राफ्ट ही भेजें

  संपादकीय

  यात्रा का विराम-मिशन अविराम

  माँ नर्मदा की सेवा मेरे जीवन का मिशन

  नर्मदा यात्रा ने आपस में समुदायों को जोड़ा

  देश-विदेश में मिली सराहना ने यात्रा को बनाया अनूठा अभियान

  यात्रा से लोगों की सोच में आया सकारात्मक बदलाव

  नर्मदा सेवा मिशन की जिम्मेदारियाँ तय

  जीवन देने वाली नर्मदा का जीवन बचाना जरूरी

  एक नदी का खत

  शिवराज : राजा भी, साधु भी (नर्मदा सेवा यात्रा पर विशेष)

  नर्मदा तट पर शिवालय

  नर्मदा के किनारे भी है एक "राजघाट"

  आदि शंकराचार्य ने मध्यप्रदेश की भूमि से दिया सांस्कृतिक एकता का संदेश

  आदिगुरू शंकराचार्य के दर्शन और सिद्धांतों से प्रशस्त होती जन विकास की नई राह

  आध्यात्मिक आत्मा के महासाम्राज्य के संस्थापक हैं आद्य गुरू शंकराचार्य

  बाबा साहेब के सपनों को साकार करना हमारा संकल्प

  स्वच्छता सर्वेक्षण में मध्यप्रदेश को सम्मान दिलाने के लिए जनता का आभार

  मध्यप्रदेश की स्वच्छता पर लगी केन्द्र की मुहर

  हरित प्रीत श्रृंगार के संकल्प के साथ खुशहाल होता किसान

  आर्थिक वरदान साबित होगा जीएसटी

  विश्व के सबसे बड़े सोलर प्लांट के रूप में बनेगी रीवा की पहचान

  इसरो बढ़ाएगा डिजिटल मध्यप्रदेश की शक्ति

  प्रदेश में पत्रकारों के सम्मान और सुरक्षा के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध

  बैंक भुगतान व्यवस्था सुचारू बनायें

  मुख्यमंत्री सोलर पम्प योजना से आएगी किसानों के चेहरे पर खुशी

  भारत ने दिखाई दुनिया को वैश्वीकरण की राह

  सुशासन और समयबद्ध सेवा प्रदायगी की प्रभावी पहल

  धरोहरों से संवाद कर जाना वैभवशाली इतिहास

  सृजन-सक्रियता और सम्भावनाओं का सम्मान

  आदर्श गाँव जो देश के लिए मिसाल बना

  खेतों से राष्ट्रपति भवन पहुँचकर लिया राष्ट्रीय पुरस्कार

  अब पंचक्रोशी यात्रियों को छांव मिलने लगी है

  सूना हो गया नदी का घर (श्री अनिल माधव देव का निधन)

  अनिल जी हमारे बीच नहीं हैं, सहज भरोसा नहीं होता

  ताकि सनद रहे...

  मंत्रिपरिषद् के निर्णय