| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube
 

अनूपपुर जिले के ग्राम सकोला में श्री वृन्दावन साहू ने कृषि विभाग के अधिकारियों के मार्गदर्शन में धान की खेती में एस.आर.आई. (श्री) पद्धति अपनाकर एक ही साल में लखपति बनने का सपना पूरा कर लिया।

वृन्दावन साहू के पास 6.3 हेक्टेयर जमीन है। इसमें 2 हेक्टेयर जमीन सिंचित है। पूर्व में श्री साहू छिटकवा पद्धति से धान, गेहूँ, मटर, चना, सरसों आदि फसल लेते थे। इतनी जमीन होने के बावजूद पूरा परिवार साल भर मेहनत कर केवल भरण-पोषण ही कर पा रहा था।

वर्ष 2011-12 में उन्होंने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन श्री पद्धति अपनाकर 60 क्विंटल प्रति हेक्टेयर धान का उत्पादन किया। वर्ष 2012-13 में उन्होंने और उत्साह से खेती की। वृन्दावन साहू ने 2 हेक्टेयर में संकर धान और 0.4 हेक्टेयर में धान की उन्नत खेती की। श्री पद्धति से उन्हें 70 क्विंटल प्रति हेक्टेयर और संकर धान का 50-60 क्विंटल प्रति हेक्टेयर उत्पादन प्राप्त हुआ।

समर्थन मूल्य पर धान की बिक्री करने पर उन्होंने खेती की लागत के अतिरिक्त 2 लाख रुपये का शुद्ध मुनाफा प्राप्त किया। अब वे खेती को लाभ का धंधा मानने लगे हैं।

आर.एस. मीणा