Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts
 

डिण्डोरी जिले के सारसडोली गाँव के किसान दुक्खूलाल के दु:ख 'कपिलधारा योजना'' से जुड़ने के बाद दूर हुए हैं। गाँव में मनरेगा से बने कपिलधारा कुओं की वजह से दुक्खूलाल और अन्य किसान अब खुशहाल हैं। पहले उन्हें खेती के साथ-साथ मजदूरी भी करनी पड़ती थी। खेती में वर्षा जल पर आश्रित किसानों को मजदूरी के कार्यों के लिए भी गाँव से बाहर जाना होता था। कपिलधारा का लाभ लेने के बाद किसान सब्जी-भाजी की फसल ले रहे हैं। अन्य फसलों से भी उनकी आमदनी बढ़ी है।

जिला प्रशासन ने किसानों के इस कार्य को देखते हुए मनरेगा कन्वर्जेंस के माध्यम से एसजीएसवाय योजना में उन्हें डीजल पम्प दिये। गाँव सारसडोली के किसान दुक्खूलाल और तुलाराम के सारे दु:ख कपिलधारा योजना ने दूर कर दिये हैं। दोनों किसान के कार्यों को देखकर अन्य किसानों ने अपनी भूमि पर कपिलधारा कुआँ खुदवाकर डीजल पम्प लगवाये हैं। इस सफलता से गाँव को नयी पहचान मिली है।

 

आनन्द मोहन गुप्ता