Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts

श्री गौरीशंकर बिसेन

जीवन परिचय

श्री गौरीशंकर बिसेन का जन्म एक जनवरी 1952 को बालाघाट में हुआ था। श्री चतुर्भुज के पुत्र श्री गौरीशंकर बिसेन का व्यवसाय कृषि है तथा खेलकूद व पर्यटन में आपकी अभिरुचि है। एम.एस.सी. (वनस्पति शास्त्र) शिक्षित श्री गौरीशंकर बिसेन छात्र जीवन से ही राजनीति में सक्रिय हैं। वे 1977 में जनता पार्टी की ओर से तथा 1980 में निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में विधायक निर्वाचित हुए। आपने कृषकों के खेतों को पानी दिलाने हेतु सिंचाई साधनों के विकास में समर्पित भाव से सहयोग दिया। श्री बिसेन वर्ष 1978 में केन्द्रीय सहकारी तथा भूमि विकास बैंक बालाघाट के संचालक तथा 1978 में जिला जनता पाटी, बालाघाट के उपाध्यक्ष रहे। भाजपा प्रत्याशी के रूप में आप वर्ष 1985 एवं 1990 में विधानसभा सदस्य चुने गये। आप 1986 में विधानसभा की लोक लेखा समिति और आश्वासन समिति के सदस्य तथा नवम विधानसभा में पटल समिति के अध्यक्ष व प्राक्कलन समिति के सदस्य तथा लोक निर्माण एवं उच्च शिक्षा की विभागीय समितियों के सदस्य रहे।

श्री बिसेन 1991-92 में सागर विश्वविद्यालय के कोर्ट के सदस्य, भाजपा प्रदेश कार्य समिति के सदस्य, ग्राम हितकारिणी समिति के अध्यक्ष तथा विवेक ज्योजित विद्यापीठ बालाघाट के उपाध्यक्ष रहे। वर्ष 1991 में लोक सभा चुनाव में आप भाजपा की ओर से बालाघाट से प्रत्याशी भी रहे। वर्ष 1993 में तीसरी बार श्री बिसेन विधायक बने। इस दौरान आप विधानसभा की सरकारी उपक्रम समिति के सदस्य भी बने। बाद में आप वर्ष 1998 में बारहवीं लोकसभा के लिए सांसद निर्वाचित हुए।

इस दौरान आप संसद की रक्षा समिति, रेल्वे परामर्शदात्री समिति, के सदस्य रहे। वर्ष 2001-04 तक प्रदेश भाजपा किसान मोर्चा के अध्यक्ष भी रहे। श्री बिसेन वर्ष 2004 में 14वीं लोकसभा के लिए बालाघाट से पुनः सांसद निर्वाचित हुए। इस दौरा उर्जा समिति के सदस्य तथा 2005 में प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष, केन्द्रीय कृषि मंत्रालय खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति की परामर्शदात्री समिति के सदस्य भी रहे।

श्री गौरीशंकर बिसेन 2008 में विधानसभा के निर्वाचन में विधायक के रूप में निर्वाचित हुए। आपको 20 दिसम्बर 2008 को शिवराज सिंह चौहान मंत्रिमंडल में मंत्री के रूप में शामिल किया गया।

श्री बिसेन चतुर्दश विधानसभा के लिये बालाघाट विधानसभा क्षेत्र से सदस्य निर्वाचित हुए। उन्होंने 21 दिसम्बर, 2013 को केबिनेट मंत्री के पद की शपथ ली।