| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

देश में कृषि की लागत में कमी लाने की जरूरत - मुख्यमंत्री

नई दिल्ली, देश में कृषि की लागत में कमी लाने की जरूरत है, साथ ही कृषि उत्पादकता और उत्पादन में तेजी से बढ़ोत्तरी किये जाने की आवश्यकता है। कृषि के क्षेत्र में नवाचार कर किसानों को उनकी उत्पादकता का बेहतर मूल्य दिलवाने के प्रयास करने चाहिये। यह विचार मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने नई दिल्ली में सम्पन्न नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की बैठक में पांच साल में किसानों की आय को दोगुना करने के रोडमैप का प्रेजेंटेशन देते हुए व्यक्त किए।

श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में मूलरूप से 5 घटकों को आधार स्तम्भ मानते हुए कार्य शुरू किया गया है। इन आधार स्तम्भों में पहला कृषि लागत में कमी, दूसरा उत्पादकता एवं उत्पादन में वृद्धि, तीसरा कृषि विविधिकरण, चौथा कृषि उत्पाद का बेहतर मूल्य उपलब्ध करवाना तथा खाद्य प्र-संस्करण और पाँचवां कृषि क्षेत्र में आपदा प्रबंधन शामिल हैं। इन लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिये प्रदेश में गठित देश की पहली कृषि केबिनेट द्वारा सघन मॉनीटरिंग की जाती है। किसानों की आय 5 वर्ष में दोगुनी करने के संकल्प की पूर्ति के लिये राष्ट्रीय स्तर के कृषि विशेषज्ञों की 5 सदस्यीय राज्य टॉस्क फोर्स गठित की गयी है।