Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts

ग्राम नल-जल योजना
ग्रामीण बसाहटों को मुख्यमंत्री ग्राम नल-जल योजना से जोड़ा जाये - मुख्यमंत्री
ग्रामीण क्षेत्रों के सभी घरों को पाइप लाइन से मिलेगा पेयजल

भोपाल, मध्यप्रदेश में एक हजार से अधिक आबादी वाली ग्रामीण बसाहटों और पांच सौ से अधिक जनसंख्या वाली अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वाली बसाहटों को प्राथमिकता से मुख्यमंत्री ग्राम नल-जल योजना से जोड़ा जायेगा। इस योजना में प्रत्येक व्यक्ति को घरेलू नल कनेक्शन से 70 लीटर प्रति दिन पेयजल मिलेगा। ग्रामीण क्षेत्रों के सभी घरों में पाइप लाइन से पेयजल मुहैया करवाया जायेगा। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में मुख्यमंत्री ग्राम नल-जल योजना की समीक्षा करते हुए कही।

बताया गया कि मुख्यमंत्री ग्राम नल-जल योजना में शामिल होने वाली बसाहटों का प्राथमिक चिन्हांकन इस माह के अंत तक कर लिया जायेगा। इन बसाहटों की विकासखंड वार सूची तैयार की जायेगी। मुख्यमंत्री ने प्रत्येक विकासखंड के बड़े गाँवों को प्राथमिकता से योजना में शामिल करने के निर्देश दिये। अगले पाँच वर्ष तक योजना का संचालन और संधारण निर्धारित क्रियान्वयन ऐजेंसी करेगी।

मुख्यमंत्री ग्राम नल-जल योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के लिये दस परियोजना क्रियान्वयन इकाइयों का गठन किया जायेगा। इन इकाइयों का मुख्यालय भोपाल, इंदौर, खरगोन, उज्जैन, शिवपुरी, ग्वालियर, सागर, जबलपुर, रीवा और शहडोल होगा।