Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts

प्रदेश में खनिज राजस्व से 3746 करोड़ से अधिक की हुई आय
सभी जिलों में खनिज परिवहन के लिये ई-टीपी व्यवस्था

भोपाल, मध्यप्रदेश खनिज उपलब्धता की दृष्टि से देश का चौथा खनिज सम्पन्न राज्य है। प्रदेश में पिछले वर्ष खनिज राजस्व के रूप में 3746 करोड़ 11 लाख रुपये की आय हुई है। प्रदेश में वर्ष 2015-16 में खनिज राजस्व के रूप में 3610 करोड़ 56 लाख रुपये प्राप्त हुए थे।

प्रदेश में खनिजों के परिवहन पर निगरानी के लिये सभी 51 जिलों में इलेक्ट्रॉनिक ट्रांजिट पास (ई-टीपी) की व्यवस्था को लागू किया गया है।

राज्य में खनिज के अवैध उत्खनन, परिवहन और भण्डारण पर रोक लगायी गयी है। वर्ष 2016-17 में अवैध परिवहन के 11 हजार 885, अवैध भण्डारण के 648 और अवैध उत्खनन के 827 प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई की गयी। इन प्रकरणों में अर्थ दण्ड के रूप में करीब 35 करोड़ रुपये दोषियों से जमा करवाये गये।
खनिज संसाधन विभाग में सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग

प्रदेश में खनिज संसाधन विभाग की गतिविधियों को ऑनलाइन करने के लिये राष्ट्रीय सूचना केन्द्र (एनआईसी) के सहयोग से वेब पोर्टल ‘ई-खनिज’ बनाया गया है। पोर्टल को परिवहन विभाग के साथ लिंक किया जा चुका है। इसके माध्यम से पट्टेदार और ट्रांसपोर्टर खनिज परिवहन के लिये ऑनलाइन वाहनों का रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।