Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts

कार्यालय कलेक्टर जिला-पन्ना (म.प्र.)

क्रमांक/332/स्थापना/राजस्व डी.ई.ओ. भर्ती/2017

पन्ना, दिनांक 24.08.2017

विज्ञप्ति

राजस्व विभाग मंत्रालय भोपाल के आदेश क्रमांक क्रं. एफ-2/10/2012/सात/4-ए भोपाल दिनांक 09 अगस्त 2017 के द्वारा परिपालन में तहसील कार्यालयों, अनुविभागीय अधिकारी कार्यालयों एवं कलेक्टर कार्यालय में लोक सेवाओं के प्रदाय के गारंटी अधिनियम 2010 के प्रभावी क्रियान्वयन के लिये सृजित संविदा आधार पर 01-01 कार्यालय सहायक सह डाटा एंट्री ऑपरेटर के संविदा पदों के लिये आवेदन पत्र आमंत्रित किये जाते हैं।

पदों का विवरण शैक्षणिक योग्यता, अन्य अर्हतायें संविदा नियुक्ति की शर्तें आवेदन पत्र भरने की अंतिम तिथि की जानकारी निम्नानुसार है :-

क्र. पदनाम मानदेय पदों का वर्गीकरण कुल पद
संख्या
सामान्य अ.जा. अ.ज.जा. अ.पि.वर्ग
पुरुष महिला पुरुष महिला पुरुष महिला पुरुष महिला
1 कार्यालय
सहायक
सह डाटा
एंट्री
ऑपरेटर
10000/-
(दस हजार
रुपये
प्रतिमाह)
06 02 02 01 01 01 01 01 15

2.1 तालिका में दर्शित स्वीकृत पदों पर नियुक्ति हेतु आवेदन दिनांक 01.09.2017 से दिनांक 11.09.2017 तक ऑनलाईन प्रक्रिया के तहत ध्र्ध्र्ध्र्.थ्र्द्रदृदथ्त्दड्ढ.ढ़दृध्.त्द पोर्टल के माध्यम से प्राप्त किये जायेंगे, जिसका शुल्क (पोर्टल शुल्क रु. 100/- एवं जी.एस.टी.) प्रति अभ्यर्थी के नाम से लिया जायेगा।

2.2 संविदा अवधि 01 वर्ष की होगी। नियुक्ति व्यक्ति का वार्षिक कार्य मूल्यांकन के आधार पर उपयुक्त होने की दशा में एक-एक वर्ष की सेवा वृद्धि की जा सकेगी।
3. अर्हताएँ :-

3.1 मान्यता प्राप्त बोर्ड/मंडल से न्यूनतम 12वीं कक्षा उत्तीर्ण होना चाहिये।

3.2 कम्प्यूटर दक्षता प्रमाणीकरण परीक्षा (सी.पी.सी.टी.) में तीनों सेक्शन में उत्तीर्ण होना चाहिये।

3.3 एम.एस. ऑफिस तथा डाटाबेस सॉफ्टवेयर में कार्य करने का 3 साल का अनुभव।

3.4 कार्यालय पत्र एवं कार्यालयीन कार्य को हिन्दी एवं अंग्रेजी में टंकण करने की दक्षता।

3.5 डाटा फीडिंग के कार्य की जानकारी।

3.6 दस्तावेजों की स्कैनिंग।

उक्त वर्णित अर्हतायें विज्ञापन दिनांक तक अर्जित होना आवश्यक है।
4. पात्रता :-

4.1 उम्मीदवार म.प्र. का मूल निवासी होना चाहिये।

4.2 आयु 01.01.2017 को 18 वर्ष से 35 वर्ष तक (शासकीय विभाग/उपक्रम/मण्डल में संविदा पर कार्यरत कर्मचारियों को 5 वर्ष की छूट प्रदान की जायेगी)।
5. नियुक्ति की प्रक्रिया :-

5.1 आवेदक द्वारा दी गई सम्पूर्ण अर्हता के परीक्षण उपरांत मेरिट का निर्धारण कम्प्यूटर दक्षता प्रमाणीकरण परीक्षा (सी.पी.सी.टी.) में कम्प्यूटर प्रोफिसियेन्सी में प्राप्त अंकों के आधार पर किया जायेगा, लेकिन मेरिट के निर्धारण में केवल उन्हीं अभ्यार्थियों को शामिल किया जायेगा जिन्होंने हिन्दी एवं अंग्रेजी नेट टाईपिंग में क्वालिफाई किया हो। यदि दो या अधिक आवेदकों के कम्प्यूटर प्रोफिशियेन्सी में समान अंक होंगे तो हिन्दी टाईपिंग के अंकों के आधार पर मेरिट का निर्धारण होगा और यदि कम्प्यूटर प्रोफिशियेन्सी एवं हन्दी टाईपिंग में समान अंक होने पर अंग्रेजी टाईपिंग के अंकों के आधार पर मेरिट का निर्धारण किया जावेगा। मेरिट में दो आवेदकों को कम्प्यूटर प्रोफिशियेन्सी, हिन्दी एवं अंग्रेजी नेट टाईपिंग सभी में समान अंक होने पर अधिक आयु वाले आवेदक को प्राथमिकता होगी। मेरिट सूची के आधार पर दस्तावेजों का सत्यापन कर नियमानुसार नियुक्ति की कार्यवाही की जावेगी। आवेदक पन्ना जिले की वेबसाइट द्रठ्ठददठ्ठ.दत्ड़.त्द एवं थ्र्द्रदृदथ्त्दड्ढ.ढ़दृध्.त्द पर भी समस्त जानकारी देख सकते हैं।

5.2 उम्मीदवार का चयन समिति द्वारा किया जावेगा। कलेक्टर पन्ना का निर्णय अंतिम एवं बंधनकारी होगा।

5.3 सभी विवादों का न्यायायिक क्षेत्र पन्ना रहेगा।

5.4 मेरिट सूची के आधार पर चयनित अभ्यार्थियों के मूल दस्तावेजों के सत्यापन के पश्चात ही चयन प्रक्रिया पूर्ण मानी जावेगी।
6. नियुक्ति की शर्तें :-

6.1 संविदा पर नियुक्त कर्मचारी को शासन द्वारा निर्धारित मानदेय दिया जायेगा।

6.2 नियुक्ति के पश्चात् जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सी.एम.एच.ओ.) का फिटनेस चिकित्सा प्रमाण-पत्र कार्य पर उपस्थित होने के अधिकतम 07 दिन की अवधि में अनिवार्यतः प्रस्तुत करना होगा।

6.3 नियुक्त संविदा कर्मचारी की सेवायें निर्धारित अवधि के दौरान एक माह के नोटिस देकर समाप्त की जा सकेगी। इस हेतु जिला कलेक्टर समक्ष अधिकारी होंगे।

6.4 नियुक्त संविदा कर्मचारी एक माह का पूर्व नोटिस देकर अथवा एक महा का पारिश्रमिक नगद जमा कर संविदा सेवा से त्याग पत्र दे सकता है।

6.5 नियुक्त संविदा कर्मचारी बिना सक्षम अधिकारी के पूर्वानुमति/निर्देश के कार्यालय से संबंधित कोई सूचना/जानकारी किसी अन्य व्यक्ति/संस्था/विभाग या किसी भी माध्यम से नहीं देगा तथा कार्यालयीन गोपनीयता भंग नहीं करेगा।

6.6 कार्यालय में संविदा सेवा अवधि के दौरान अन्य किसी भी प्रकार के संस्थानों/कार्यालयों में कार्य करने अथवा व्यक्तिगत तौर पर किसी भी प्रकार के व्यापार/व्यवसाय करने पर प्रतिबंध लागू रहेगा।

6.7 संविदा पर नियुक्ति व्यक्तियों पर मध्यप्रदेश सिविल सेवा नियम लागू होंगे।

6.8 नियुक्त संविदा कर्मचारी को शासन/कलेक्टर द्वारा समय-समय पर सौंपे गये अन्य समस्त कार्यालयीन कार्य भी संपादित करने होंगे।

6.9 संविदा नियुक्ति आदेश जारी करने की दिनांक से 15 दिन प्रभावशील होगी। इस अवधि में यदि संविदा नियुक्त व्यक्ति के द्वारा कार्यभार ग्रहण नहीं किया तो संविदा नियुक्ति का आदेश स्वतः प्रभावशून्य हो जावेगा।

6.10 नियुक्त संविदा कर्मचारी को आधारभूत एवं उसके दायित्वों से संबंधित प्रशिक्षणों में भाग लेना अनिवार्य होगा।

6.11 नियुक्त संविदा कर्मचारी को चरित्र सत्यापन शासकीय सेवकों को लागू नियमों या अनुदेशों के आधार पर किया जावेगा। चरित्र के संबंध में किसी भी प्रतिकूल निष्कर्ष की दशा में नियुक्ति प्राधिकारी द्वारा संविदा नियुक्ति बिना कोई कारण बताये तत्काल रद्द कर दी जावेगी।

6.12 नियुक्त संविदा कर्मचारी को कदाचार या किसी आपराधिक गतिविधि में संलग्न होने पर नियुक्ति प्राधिकारी उसकी नियुक्त समाप्त कर सकेंगे।

6.13 नियुक्त संविदा कर्मचारी उसके पदस्थापना के स्थान पर कार्यभार ग्रहण करने की तिथि से संविदा में माना जावेगा। यदि संविदा पर नियुक्त कोई व्यक्ति बिना विशिष्ट कारण और बिना किसी सूचना के अपने कर्तव्य से 01 माह से अधिक के लिए अनुपस्थित रहता है तो उसकी संविदा नियुक्ति ऐसी अनुपस्थिति की तिथि से स्वतः समाप्त मानी जावेगी।

6.14 म.प्र. शासन में लागू आरक्षण नियमों का पूर्णतः पालन किया जावेगा।
7. प्रतीक्षा :-

चयनित उम्मीदवारों से प्रत्येक के लिए कम से कम दो उम्मीदवारों की प्रतीक्षा सूची बनाई जावेगी।
8. प्रतीक्षा सूची की वैद्यता :-

प्रतीक्षा सूची की वैद्यता सामान्यतः एक वर्ष के लिये होगी।
9. संविदा अवधि :- 

9.1 प्रथम संविदा अवधि एक वर्ष के लिए होगी। गोपनीय प्रतिवेदन एवं कार्य के वार्षिक मूल्यांकन के आधार पर उपयुक्त पाये जाने आगामी वर्ष के लिये पुनः संविदा पर नियुक्त करने पर विचार किया जायेगा।
10. मानदेय :-

शासन द्वारा निर्धारित मानदेय के अतिरिक्त अन्य भत्ते/शासकीय आवास की पात्रता नहीं होगी।
11. यात्रा एवं दैनिक भत्ता :-

11.1 संविदा पर नियुक्त कर्मचारी को शासकीय यात्रा करने पर तृतीय श्रेणी कर्मचारी के समान यात्रा भत्ता की पात्रता होगी।

11.2 ई.पी.एफ. कटौत्रा के संबंध में ई.पी.एफ. फण्ड मिसलेनियस प्रोविजन्स एक्ट 1952 के प्रावधान लागू होंगे।
12. अवकाश :-

12.1 संविदा पर नियुक्त कर्मचारी को नियमानुसार एक वर्ष में 13 दिन के आकस्मिक अवकाश की पात्रता होगी।

12.2 संविदा पर नियुक्त कर्मचारी को नियमानुसार एक वर्ष में 15 दिन के चिकित्सा अवकाश की पात्रता होगी। चिकित्सा अवकाश न लिए जाने की स्थिति में इसे आगामी वर्ष में नहीं जोड़ा जावेगा।

12.3 बिना अवकाश स्वीकृत के अवकाश पर रहने/अनुपस्थित रहने पर अनुपस्थिति की अवधि का संविदा मानदेय देय नहीं होगा।
13. विशेष :-

13.1 संविदा नियमों पर नियुक्त कर्मचारी को नियमितीकरण की पात्रता नहीं होगी और यह भविष्य में नियमितीकरण संबंधी कोई दावा नहीं कर सकेगा। इस शर्त का नियुक्ति आदेशों में स्पष्टतः उल्लेख किया जावेगा।

13.2 दस्तावेजों का सत्यापन चयन समिति करेगी। फर्जी दस्तावेजों पर कानूनी कार्यवाही की जावेगी।

13.3 संविदा पर नियुक्ति कर्मचारी द्वारा निर्धारित प्रारूप में अनुबंध निष्पादित किया जावेगा।
14. विवादों का निपटारा :-

किसी भी विवाद की स्थिति में संबंधित जिला कलेक्टर का निर्णय अंतिम एवं सर्वमान्य होगा।

कलेक्टर
जिला पन्ना (म.प्र.)