| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

भारत-श्रीलंका टेस्ट श्रृंखला
भारत ने श्रीलंका को हराकर की सबसे बड़ी जीत के रिकॉर्ड की बराबरी
दूसरे टेस्ट मैच में श्रीलंका को पारी और 239 रनों से हराया

नागपुर, भारतीय क्रिकेट टीम ने बल्लेबाजों और गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर श्रीलंका को नागपुर टेस्ट में पारी और 239 रनों से हराया। इसी के साथ ही भारत ने टेस्ट क्रिकेट में अपनी सबसे बड़ी जीत के रिकॉर्ड की बराबरी भी की है। भारत ने बांग्लादेश को वर्ष 2007 में पारी और 239 रनों से हराया था।

मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी श्रीलंका की शुरूआत सही नहीं रही। टीम को 20 रन के स्कोर पर पहला झटका लगा, जब ईशांत ने समरविक्रमा को आउट किया। इसके बाद नियमित अंतराल पर विकेट गिरते रहे। श्रीलंका के लिये कप्तान दिनेश चांडीमल ने 57 रन और दिमुथ करुणारत्ने ने 51 रनों की पारी खेली। श्रीलंका की पहली पारी 205 रन बनाकर सिमट गई। भारत के लिये अश्विन ने चार, ईशांत और जाडेजा ने 3-3 विकेट लिये।

इसके जवाब में भारतीय टीम की शुरूआत भी खराब रही। टीम को के.एल. राहुल के रूप में सात रन के स्कोर पर पहला झटका लगा। इसके बाद चेतेश्वर पुजारा और मुरली विजय ने संभलकर खेला। दोनों बल्लेबाजों ने दूसरे विकेट के लिए 209 रनों की साझेदारी की। लगभग आठ महीने बाद टीम में वापसी कर रहे विजय ने 221 गेंेदों में अपना 10वां शतक पूरा किया, वे 128 रन बनाकर रंगना हेराथ का शिकार बने। इसके बाद पुजारा ने विराट के साथ पारी को आगे बढ़ाया और शतक पूरा किया। यह पुजारा के टेस्ट कैरियर का 14वां शतक है। पुजारा ने 143 रन बनाये। पुजारा और विजय के बाद कोहली और रोहित ने भी बल्लेबाजी में अपना जौहर दिखाया। कोहली ने शानदार दोहरा शतक बनाते हुए 213 रन की पारी खेली, जबकि रोहित शर्मा ने 102 रनों की नाबाद पारी खेली। यह रोहित के टेस्ट कैरियर का तीसरा शतक है। भारत ने 610 रनों के स्कोर पर अपनी पारी घोषित की।

भारत के 405 रनों की बढ़त के दबाव में श्रीलंका की दूसरी पारी 166 रनों पर ऑलआउट हो गई। श्रीलंका के लिये दिनेश चांडीमल ने दोनों पारियों में अर्द्धशतक बनाये।

  • अश्विन ने टेस्ट क्रिकेट में लगातार तीसरे साल लिये 50 से अधिक विकेट।
  • यह कारनामा करने वाले विश्व के तीसरे स्पिनर बने अश्विन।
  • एक साल में बतौर कप्तान 10 शतक बनाने वाले विश्व के पहले क्रिकेटर बने विराट कोहली।
  • कोहली ने बतौर कप्तान पांच दोहरे शतक बनाने के ब्रायन लारा के विश्व रिकॉर्ड की बराबरी की।
  • कोहली ने बतौर कप्तान 12वां टेस्ट शतक बनाकर सुनील गावस्कर (11) का भारतीय रिकॉर्ड तोड़ा।
  • कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने सातवीं बार बनाया 600 से अधिक रनों का स्कोर।
  • टेस्ट क्रिकेट में तीसरी बार भारतीय बल्लेबाजों ने एक पारी में बनाये चार शतक।
  • इससे पहले वर्ष 2007 में बांग्लादेश और वर्ष 2010 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ किया था ये कारनामा। सुनील गावस्कर (33) और वीरेन्द्र सहवाग (22) के बाद सबसे ज्यादा टेस्ट शतक बनाने वाले ओपनर बने मुरली विजय (10 शतक)।