Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

 
स्कूली बच्चों में पढ़ाई में रुचि पैदा करने के लिये होगा कहानी उत्सव
 

भोपाल, मध्यप्रदेश के स्कूलों में बच्चों में पढ़ाई के प्रति रुचि जागृत करने के मकसद से ‘कहानी उत्सव’ का आयोजन किया जायेगा। प्रसिद्ध शिक्षाविद् गिजुभाई वाधेका की शिक्षण विधि में कहानी को शिक्षा में आने वाली अनेक समस्याओं का समाधान माना गया है। अनुशासन, एकाग्रता, भाषा विकास, इतिहास बोध, लोक-संस्कृति से परिचित कराने में भी कथा-कहानी को श्रेष्ठ माध्यम माना गया है।

शाला-स्तर से राज्य-स्तर तक होने वाला कहानी उत्सव शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक स्कूलों में राष्ट्र कवि मैथिलीशरण गुप्त की जयंती के अवसर पर होगा। कहानी उत्सव दो समूहों में विद्यार्थियों और शिक्षकों के बीच होगा। प्रत्येक समूह में श्रेष्ठ कहानी-वाचन करने वाले प्रतिभागी विद्यार्थी एवं शिक्षक का चयन किया जायेगा, उन्हें 16 अगस्त को प्रसिद्ध कवियित्री सुभद्रा कुमारी चौहान की जयंती के अवसर पर कहानी सुनाने का अवसर जनशिक्षा केन्द्र पर दिया जायेगा। जनशिक्षा केन्द्र पर सर्वश्रेष्ठ कहानी-वाचक को 14 सितम्बर को विकासखंड स्तर पर आयोजित होने वाले कहानी उत्सव में कहानी सुनाने के लिये चयनित किया जायेगा।