Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts

 
मैहर को बनाया जायेगा देश का सबसे सुंदर तीर्थ स्थल - मुख्यमंत्री
मैहर मिनी स्मार्ट सिटी के लिये 270 करोड़ रुपये की कार्ययोजना प्रारंभ

सतना, मैहर को देश का सबसे अच्छा और सुंदर तीर्थ स्थल बनाया जायेगा। मैहर के अधोसंरचनात्मक विकास, सौन्दर्यीकरण, नागरिक सेवाओं और पुरातत्व एवं पर्यटन महत्व के स्थलों के विकास के लिये मैहर के लिये ‘मिनी स्मार्ट सिटी योजना’ के तहत 270 करोड़ रुपये की कार्ययोजना प्रारंभ की गई है। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सतना जिले के मैहर में जनसभा को संबोधित करते हुये कही।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि पिछले वर्ष जून माह में मैहर के विकास की 103 घोषणाएँ की गई थीं, जिनमें से 79 पूरी हो गई हैं और शेष सभी घोषणाएँ भी पूरी की जायेंगी। उन्होंने कहा कि मैहर क्षेत्र के किसानों के लिये सिंचाई की योजना भी स्वीकृत कर दी गई है। इसका शुभारंभ दीवाली के आसपास किया जायेगा। झुकेही से सरलानगर की सड़क भी शीघ्र स्वीकृत की जायेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि किसानों को फसल की पैदावार का लाभकारी मूल्य दिलाया जायेगा। फसलों के दाम कम होने पर भी बाजार के बिक्री रेट और समर्थन मूल्य के बीच के अंतर की राशि किसानों के खाते में जमा की जायेगी। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही कृषि मूल्य लागत आयोग भी बनाया जायेगा।

श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश मे ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में 15 लाख गरीबों के मकान इसी साल बनाने के प्रयास किये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर मिनी स्मार्ट सिटी की योजना दिव्य मैहर की कार्ययोजना पुस्तिका का अनावरण किया।

मैहर क्षेत्र में 32 करोड़ 15 लाख रुपये लागत के कार्यों का शिलान्यास एवं लोकार्पण

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस अवसर पर मैहर क्षेत्र में 32 करोड़ 15 लाख 39 हजार रुपये लागत के कार्यों का लोर्कापण और शिलान्यास किया। इस मौके पर जीतनगर, अजमाईन, जरियारी और भरौली के 33/11 के.व्ही. विद्युत सब स्टेशन, सर्व शिक्षा अभियान के माध्यमिक शाला भवन, ग्रामीण सड़क हरदुआसानी मार्ग और मैहर धनवाही मार्ग से धरमपुरा मार्ग निर्माण का लोर्कापण किया।

इस अवसर पर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अंतर्गत जरियारी, करतहा, अजमाईन, धरमपुरा और भदनपुर की नल-जल प्रदाय योजना का शिलान्यास, नगर पालिका के अंतर्गत बालिका छात्रावास का लोकार्पण तथा पाला में हाईस्कूल भवन का भूमिपूजन किया गया।