Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

 
सीमा शुल्क, आईजीएसटी संग्रह जुलाई में 30,000 करोड़ रुपए
 

नई दिल्ली, वस्तु एवं सेवाकर यानी जीएसटी के क्रियान्वयन के बाद सीमा शुल्क और आईजीएसटी (इंटीग्रेटेड जीएसटी) से राजस्व संग्रह जुलाई में लगभग दोगुना 30,000 करोड़ रुपए रहा। इस राजस्व में सीमा शुल्क, आईजीएसटी, प्रतिपूरक शुल्क सीवीडी, विशेष अतिरिक्त शुल्क एसएडी तथा उपकर शामिल हैं। इससे पहले, वर्ष 2016 के जुलाई में अप्रत्यक्ष कर संग्रह 16,000 करोड़ रुपए था। जीएसटी को एक जुलाई से लागू किया गया। इसने उत्पाद शुल्क, सेवा कर तथा वैट समेत एक दर्जन से अधिक केंद्रीय तथा राज्य शुल्कों का स्थान लिया है। केंद्रीय जीएसटी तथा राज्य जीएसटी से प्राप्त कर राजस्व के बारे में जानकारी घरेलू विनिर्माताओं, कारोबारियों तथा व्यापारियों के अपने कर रिटर्न दाखिल किए जाने के बाद मिलेगी।