| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग
मुफ्त जाँच, इलाज और औषधि प्रदान कर रही है मध्यप्रदेश सरकार
 

मध्यप्रदेश सरकार प्रदेशवासियों के स्वस्थ जीवन की सुनिश्चितता के लिए प्रतिबद्ध है। साथ ही उच्च गुणवत्ता की चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए विविध स्तर पर प्रयास भी किये जा रहे हैं। अस्वस्थ होने की स्थिति में प्रदेश के लोगों को मुफ्त जाँच, निःशुल्क दवाएं तथा अस्पताल में इलाज की सुविधाएँ मुफ्त प्रदान की जा रही हैं। यही नहीं, संक्रमित बीमारियों के इलाज के लिए विशेष इंतजाम भी किये जाते हैं। इन तमाम प्रयासों के चलते मध्यप्रदेश स्वस्थ प्रदेश की कल्पना को मूर्त रूप देने के लिए प्रयासरत है।

‘रोज़गार और निर्माण’ के इस अंक में ‘आगे आयें-लाभ उठायें’ स्तम्भ में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा चलाई जा रही कुछ योजनाओं का प्रकाशन किया जा रहा है। इन योजनाओं में सरदार वल्लभभाई पटेल निःशुल्क औषधि वितरण योजना, निःशुल्क चिकित्सकीय जाँच योजना तथा मुख्यमंत्री बाल श्रवण योजना में शामिल हैं। इच्छुक हितग्राही इन योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

सरदार वल्लभ भाई पटेल निःशुल्क औषधि वितरण योजना

योजना कब से प्रारंभ हुई : यह योजना 17 नवम्बर 2012 से प्रारंभ की गई है।

योजना का उद्देश्य : योजना का उद्देश्य प्रदेश के सभी शासकीय अस्पतालों में रोगियों को न्यूनतम आवश्यक औषधियाँ उपलब्ध कराना है।

क्या लाभ दिया जाता है योजना में : सरदार वल्लभभाई पटेल निःशुल्क औषधि वितरण योजना में चिकित्सालयों में ओ.पी.डी. के समय तथा अस्पताल में भर्ती रोगियों को सातों दिन चौबीस घंटे सर्वाधिक उपयोग में आने वाली जेनेरिक औषधियाँ उपलब्ध करवाई जा रही हैं। यह दवाएँ दवा केन्द्र से प्राप्त की जा सकती हैं। सभी चिकित्सकों द्वारा जेनेरिक दवाओं का पर्चा दवा केन्द्र के लिए लिखा जाता है। किसी दवा के स्टॉक में उपलब्ध न होने की स्थिति में निकटतम वैकल्पिक उपलब्ध दवा ही लिखी जाती है। वर्तमान में प्रदेश के सभी जिलों में 250 से अधिक औषधियों की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है।

कौन ले सकता है योजना का लाभ : मध्यप्रदेश का मूल निवासी, किसी भी वर्ग का व्यक्ति शासकीय चिकित्सालय में इलाज कराने अथवा भर्ती होने की स्थिति में इस योजना का लाभ ले सकता है।

योजना का लाभ लेने के लिए कहाँ करें संपर्क : सरदार वल्लभभाई पटेल निःशुल्क औषधि वितरण योजना का लाभ लेने के लिए संबंधित अस्पताल के दवा केन्द्र से संपर्क कर सकते हैं।
निःशुल्क चिकित्सकीय
जाँच योजना
योजना कब से प्रारंभ हुई
निःशुल्क चिकित्सकीय जाँच योजना फरवरी 2013 से प्रारंभ हुई है।
योजना का उद्देश्य
योजना का उद्देश्य मध्यप्रदेश के लोगों को शासकीय चिकित्सालयों में आवश्यक पैथोलॉजी जाँच की सुविधा उपलब्ध कराना है।
क्या लाभ दिया जा रहा है
योजना में
योजना के तहत, निःशुल्क पैथोलॉजी जाँच की सुविधा जिला अस्पतालों से लेकर उप स्वास्थ्य केन्द्रों तक उपलब्ध है।
योजना के अंतर्गत विभिन्न स्तर पर चिकित्सा संस्थाओं में निःशुल्क पैथोलॉजी जाँच सुविधाएँ तय सूची के अनुसार उपलब्ध करवाई गयी हैं।
इस सूची के मान से उप स्वास्थ्य केन्द्रों पर 5, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर 16, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर 28, सिविल अस्पतालों में 32 तथा जिला चिकित्सालय में 48 प्रकार की जाँचें निःशुल्क की जा रही हैं।
कौन ले सकता है
योजना का लाभ
मध्यप्रदेश के मूल निवासी, सभी वर्गों के लोग इस योजना का लाभ ले सकते हैं।
योजना का लाभ लेने के लिए
कहाँ करें संपर्क
निःशुल्क चिकित्सकीय जाँच योजना का लाभ लेने के लिए आप अपने क्षेत्र के शासकीय चिकित्सालय अथवा स्वास्थ्य केन्द्र से संपर्क कर सकते हैं।
मुख्यमंत्री बाल श्रवण योजना
योजना कब से प्रारंभ हुई
यह योजना वर्ष 2015 से प्रारंभ हुई है।
योजना का उद्देश्य
योजना का उद्देश्य प्रदेश के श्रवणबाधित बच्चों को उपचार प्रदान करना है।
कौन ले सकता है योजना का लाभ
मुख्यमंत्री बाल श्रवण योजना के तहत 5 वर्ष तक के मध्यप्रदेश के समस्त जन्मजात श्रवण बाधित बच्चे तथा विशेष परिस्थितियों में विशेषज्ञ की सलाह अनुसार 7 वर्ष तक के बच्चे इस योजना का लाभ ले सकते हैं। इसमें श्रेणी या वर्ग का कोई बंधन नहीं है।
क्या लाभ दिया जाता है
योजना में
योजना के तहत चिन्हांकित श्रवण बाधित बच्चों को कॉक्लियर इम्प्लांट लगाया जाता है। यह इम्प्लांट मान्यता प्राप्त संस्था से लगाया जाता है। इसके लिए सरकार द्वारा हर एक बच्चे पर 6.50 लाख रुपये की राशि व्यय की जा रही है।
योजना का लाभ लेने के लिए
कहाँ करें संपर्क
योजना का लाभ लेने के लिए आप अपने क्षेत्र के चिकित्सालय अथवा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र से संपर्क कर सकते हैं।