| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

भारत-श्रीलंका टेस्ट श्रृंखला
भारत ने विदेशी जमीन पर दर्ज की सबसे बड़ी जीत
भारत ने पहले टेस्ट में श्रीलंका को 304 रनों से हराया

गॉल, भारत ने श्रीलंका को गॉल टेस्ट में 304 रनों से हराकर विदेशी जमीन पर अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज की है। इसके साथ ही भारत ने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है। मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए पहली पारी में 600 रन का स्कोर खड़ा किया।

धवन और पुजारा ने जड़े शतक

भारत के लिए पहली पारी में शिखर धवन और चेतेश्वर पुजारा ने शतक लगाये। धवन ने अपने टेस्ट कैरियर का पाँचवां शतक जमाते हुए 168 गेंदों में 190 रन की पारी खेली। दूसरे छोर पर पुजारा ने शिखर का साथ निभाते हुए 153 रनों की पारी खेलते हुए अपने टेस्ट कैरियर का 12वाँ शतक लगाया। धवन और पुजारा के बीच दूसरे विकेट के लिये 253 रन की साझेदारी हुई। भारत के लिये अजिंक्य रहाणे ने 57 रन और पहला टेस्ट मैच खेल रहे हार्दिक पंड्या ने 50 रनों की पारी खेली। इसके जवाब में श्रीलंकाई टीम की शुरुआत सही नहीं रही। सात रन के स्कोर पर ही ओपनर करुणारत्ने आउट हो गये। इसके बाद उपुल थरंगा और एंजेलो मैथ्यूज ने टीम को संभाला। थरंगा ने 64 और मैथ्यूज ने 83 रनों की पारी खेली। ऑलराउंडर दिलरुवान परेरा ने सर्वाधिक 92 रन बनाये।

भारत ने नहीं दिया फॉलोऑन

पहली पारी में 309 रन की बढ़त लेने के बाद भी भारत ने श्रीलंका को फॉलोऑन नहीं दिया। भारत ने कप्तान विराट कोहली के शानदार शतक (103 रन) और अभिनव मुकुंद के शानदार 81 रनों की बदौलत दूसरी पारी 3 विकेट पर 240 रन बनाकर घोषित की। इस तरह श्रीलंका को जीत के लिये 550 रनों का लक्ष्य मिला।

अश्विन और जडेजा ने फिरकी में श्रीलंका को फँसाया

लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंका की टीम के दो विकेट 29 रन पर ही गिर गये। ओपनर करुणारत्ने और डिकवेला ने संघर्षपूर्ण पारी खेलते हुए टीम को संभालने की कोशिश की, लेकिन अश्विन और जडेजा की फिरकी के आगे उन्होंने घुटने टेक दिए। करुणारत्ने ने 97 और डिकवेला ने 67 रनों की पारी खेली। भारत की ओर से अश्विन और जडेजा ने 3-3 विकेट झटके।

  • भारत ने दर्ज की श्रीलंका के खिलाफ सबसे बड़ी जीत।
  • इससे पहले भारत ने श्रीलंका को वर्ष 2015 में 278 रनों से हराया था।
  • यह भारत की टेस्ट क्रिकेट में चौथी सबसे बड़ी जीत है।
  • धवन और पुजारा ने श्रीलंका के खिलाफ की सबसे ज्यादा रनों की साझेदारी।
  • कोहली की कप्तानी में भारत ने 27 टेस्ट मैचों में दर्ज की 17वीं जीत।
  • बतौर कप्तान 10 टेस्ट शतक लगाने वाले दूसरे भारतीय कप्तान बने कोहली।
  • सुनील गावस्कर ने बतौर कप्तान लगाये हैं सबसे ज्यादा 17 शतक।