Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

रणजी ट्रॉफी में तटस्थ स्थल का प्रारूप होगा खत्म

नई दिल्ली, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने रणजी ट्रॉफी के मैच तटस्थ स्थल पर कराने वाले प्रारूप को एक साल के अंदर ही बदल दिया है। रणजी ट्रॉफी में मैच अब पहले की तरह होम एंड अवे प्रारूप के अनुसार खेले जायेंगे। पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली की अगुवाई वाली बीसीसीआई की तकनीकी समिति ने यह फैसला लिया। तकनीकी समिति ने यह फैसला मुम्बई में बीसीसीआई के वार्षिक सम्मेलन में कोचों और खिलाड़ियों के नकारात्मक फीडबैक के बाद लिया। बीसीसीआई के सचिव अमिताभ चौधरी ने कहा कि तटस्थ स्थलों पर मैच कराने से स्टेडियम में भीड़ नहीं जुट रही थी। घरेलू टीम का मैच नहीं होना इसकी वजह थी। चौधरी ने कहा नॉक आउट मैच अभी भी तटस्थ स्थलों पर ही होंगे।

  • छह अक्टूबर से शुरू होगा रणजी ट्रॉफी का नया सत्र।
  • प्रतियोगिता में 28 टीमें लेंगी हिस्सा।
  • सात-सात टीमों के चार ग्रुप बनेंगे।
  • प्रत्येक टीम छह लीग मैच खेलेगी।
  • प्रत्येक ग्रुप से दो शीर्ष टीमें क्वार्टर फाइनल के लिये करेंगी क्वालिफाई।