Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

अमेरिकी सीनेट के प्रस्तावों के खिलाफ
ईरान मिसाइल कार्यक्रम जारी रखेगा

पिछले सप्ताह अमेरिकी सीनेट द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों को दरकिनार करते हुए ईरान ने कहा है कि वह अपने मिसाइल कार्यक्रम जारी रखेगा। ईरान के विदेश
ईरान ने कहा कि उस पर लगाई जाने वाली पाबंदियां परमाणु समझौते को कमजोर करने का एक प्रयास हैं।
    ईरान का मानना है कि सेना और मिसाइल क्षेत्र उसकी घरेलू नीतियाँ हैं। किसी अन्य को इनमें दखल देने या टिप्पणी करने का अधिकार नहीं है।
मंत्रालय के प्रवक्ता बहराम घासमी ने सरकारी प्रसारक आईआरआईबी को बताया कि ईरान अपने मिसाइल कार्यक्रम को पूरी ताकत से जारी रखेगा। घासमी ने अमेरिका एवं दुनिया की अन्य ताकतों के साथ वर्ष 2015 में हुए उस समझौते का जिक्र किया, जिसमें ईरान पर लगे प्रतिबंधों को हटाने की बात कही गई थी। उन्होंने कहा कि ईरान के लोग अमेरिका की इस पाबंदी को शत्रुतापूर्ण लिया गया निंदनीय निर्णय मानते हैं और इसको अस्वीकार करते हैं।