| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

मध्यप्रदेश वर्ष 2018 तक बन जायेगा खुले में शौच से मुक्त राज्य - मुख्यमंत्री
मध्यप्रदेश में चलाया जा रहा स्वच्छता अभियान सराहनीय - अमिताभ

भोपाल, मध्यप्रदेश में स्वच्छता अब जन अभियान बन गया है। स्वच्छता अभियान में आम नागरिक सरकार का सहयोग कर रहे हैं। वर्ष 2018 तक मध्यप्रदेश खुले में शौच से मुक्त राज्य बन जायेगा। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में एक टी.वी. चैनल पर स्वच्छ भारत के ब्रांड एम्बेसडर और प्रख्यात अभिनेता अमिताभ बच्चन से बातचीत के दौरान कही। इस अवसर पर अमिताभ बच्चन ने प्रदेश में जनभागीदारी से चलाए जा रहे स्वच्छता अभियान की सराहना की।

श्री अमिताभ बच्चन ने पिछले एक साल में स्वच्छता अभियान के कारण आये बदलाव के संबंध में मुख्यमंत्री से सवाल पूछा। मुख्यमंत्री ने उन्हें बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण में भारत के सौ शहरों में मध्यप्रदेश के 22 शहर चुने गये। पूरे देश में इन्दौर नम्बर एक और भोपाल नम्बर दो पर रहा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण स्वच्छता के क्षेत्र में भी मध्यप्रदेश आगे चल रहा है। उन्होंने बताया कि ग्वालियर पूरे देश में नम्बर एक पर है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में शौचालय निर्माण में शुरुआत में प्रदेश पीछे था, लेकिन बहुत कम समय में तेजी से काम करते हुए राष्ट्रीय औसत से आगे निकल गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कई शहरों में चमत्कारी परिणाम मिले हैं। गंदगी से होने वाली बीमारियों का प्रकोप कम हुआ है। लोगों की मानसिकता में परिवर्तन आया है। लोगों में अपने गाँव और अपने शहरों को स्वच्छ रखने की सकारात्मक मानसिकता बनी है।

  • जबलपुर में 10 मेगावॉट का वेस्ट टू एनर्जी प्लांट शुरू हो गया है।
  • इस प्लांट में कचरा निष्पादन के लिये किया गया है व्यवस्थित इंतजाम।
  • प्रदेश में प्लास्टिक बैग के उपयोग पर लगाया गया प्रतिबंध।