| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस
मध्यप्रदेश में बुजुर्गों की सुरक्षा के होंगे समुचित प्रबंध - मुख्यमंत्री
प्रदेश में अकेले रहने वाले बुजुर्गों की जानकारी की जायेगी संकलित

भोपाल, मध्यप्रदेश में बुजुर्गों की सेवा और सुरक्षा के लिये सभी जरूरी कार्य किये जायेंगे। प्रदेश के शहरों, कस्बों और बड़े गाँवों में अकेले रहने वाले वरिष्ठ नागरिकों की जानकारी संकलित कर उसे सूचीबद्ध किया जायेगा। शासकीय कार्यक्रमों में कन्यापूजन के साथ ही क्षेत्र के सबसे बुजुर्ग व्यक्ति का सम्मान भी किया जायेगा। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल स्थित आर.सी.पी.व्ही. नरोन्हा प्रशासन अकादमी में अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन की सिंगल क्लिक से वितरण योजना का शुभारंभ भी किया।

  • प्रदेश में बुजुर्गों की मदद के लिये बनाई जायेगी हेल्पलाइन।
  • वृद्ध माता-पिता की उपेक्षा करने वालों के विरुद्ध होगी दंडात्मक कार्रवाई।
  • ओल्ड एज होम्स पाश्चात्य संस्कृति का है परिचायक।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सिंगल क्लिक पेंशन वितरण योजना की सराहना करते हुए कहा कि इसे और बेहतर बनाने के प्रयास किये जाएँ। तकनीक का इस्तेमाल मानवीय संवेदनाओं के साथ हो। बुजुर्गों के खातों में तत्काल राशि पहुँचाने की व्यवस्था की पूरी सफलता तभी है, जब बैंक के खाते में पेंशन पहुँचने के दो से तीन दिनों के भीतर राशि वृद्धजन के हाथों में पहुँच जाए। उन्होंने निर्देश दिये कि ग्राम पंचायतें, पोस्ट ऑफिस और बैंक संयुक्त रूप से विचार कर, ऐसी व्यवस्था बनाएँ। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार सबसे पहले बुजुर्गों के साथ है। उम्र के साथ होने वाले बदलावों के साथ भी जीवन आनंद, प्रसन्नता और खुशी के साथ जिया जाए।

श्री चौहान ने कहा कि भारतीय संस्कृति बुजुर्गों के सम्मान पर आधारित है। आश्रम व्यवस्था के माध्यम से पूरा समाज लाभान्वित होता था। उन्होंने कहा कि जमाना बदल रहा है। आज के माँ-बाप एक-डेढ़ वर्ष की आयु के शिशुओं को भी झूला घर में छोड़ रहे हैं। ऐसे बच्चे माँ-बाप को वृद्धाश्रम में छोड़ेंगे कि नहीं, इस पर समाज को चिंतन करना होगा।

सामाजिक न्याय मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि समाज विशेषकर युवा पीढ़ी का दायित्व है कि वृद्ध माता-पिता आनंद भाव के साथ जीवन जियें। उन्होंने कहा कि सरकार ने पेंशन वितरण व्यवस्था को पारदर्शी, त्वरित और अधिक बेहतर बनाने के क्रम में सिंगल क्लिक पेंशन योजना लागू की है। ऐसी व्यवस्था करने में देश में मध्यप्रदेश अग्रणी राज्य है।