| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

इंडिया मोबाइल कांग्रेस-2017
भारत विश्व का दूसरा सबसे बड़ा दूरसंचार बाजार - मनोज सिन्हा
दूरसंचार उद्योग भारत में चार मिलियन रोज़गार देगा

नई दिल्ली, भारत लगभग 1.2 अरब से अधिक ग्राहक और लगभग 450 मिलियन से अधिक इंटरनेट उपयोगकर्ताओं के साथ विश्व का दूसरा सबसे बड़ा दूरसंचार बाजार है। स्मार्ट फोन के आने से और डेटा उपभोग में वृद्धि से दूरसंचार उद्योग वर्ष 2017 के अंत तक लगभग 38.25 मिलियन डॉलर के राजस्व वाला उद्योग बन जायेगा। यह बात केंद्रीय संचार राज्यमंत्री श्री मनोज सिन्हा ने नई दिल्ली में इंडिया मोबाइल कांग्रेस-2017 का उद्घाटन करते हुए कही।

श्री सिन्हा ने कहा कि पिछले चार वर्षों में इस क्षेत्र में निवेश लगभग 220 प्रतिशत बढ़ा है और मोबाइल कवरेज को बढ़ाने के लिए ऑपरेटरों ने पिछले 15 महीनों में 0.2 मिलियन से अधिक साइटें शुरू की हैं। प्रत्येक तीन मिनट में एक नई साइट शुरू की जा रही है।

श्री सिन्हा ने कहा कि ग्रामीण बाजार में सरकार और दूरसंचार कंपनियों के निरंतर ध्यान देने से करीब चार मिलियन प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोज़गार के अवसर पैदा होंगे।

प्रौद्योगिकी से नौकरियों का होगा सृजन

उन्होंने कहा कि डिजिटल भारत के लक्ष्यों का मौलिक आधार देश का संचार उद्योग है जो केवल लोगों से जुड़ा ही नहीं है, बल्कि नौकरियों का भी सृजन किया है। यह उद्योग ज्ञान के लिए एक उपकरण बन गया है, इसने खजाने में योगदान दिया है और आर्थिक विकास और वित्तीय समावेशन का विस्तार किया है।

संचार राज्यमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ सालों में सरकार ने प्रौद्योगिकी, स्मार्ट शहरों और आपस में जुड़े सुपर हाईवे पर ध्यान दिया है और नागरिकों के लिए ई-गवर्नेंस सेवाओं की डिलीवरी में तेजी आई है। यह सभी दूरसंचार क्षेत्र पर अत्यधिक निर्भर हैं।