| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

 
ईआरओ नेट शुरू करने वाला देश का 26वाँ राज्य बना मध्यप्रदेश
 

भोपाल, चुनाव आयोग, मतदाता सूची एवं निर्वाचन संचालन में आधुनिक टेक्नोलॉजी का उपयोग करने के लिये निरंतर प्रयासरत है। इस दिशा में ईआरओ नेट एक महत्वपूर्ण कदम है। मध्यप्रदेश ईआरओ-नेट शुरू करने वाला देश का 26वाँ राज्य है। यह बात भारत निर्वाचन आयोग के चुनाव आयुक्त श्री ओपी रावत ने भोपाल में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में मध्यप्रदेश के लिये ईआरओ-नेट को शुभारंभ करते हुए कही।

श्री ओ.पी. रावत ने कहा है कि निर्वाचन अमले को नई तकनीक के प्रशिक्षण के साथ ही उसकी पूरी जानकारी होना जरूरी है। आयोग द्वारा निष्पक्ष एवं पारदर्शी निर्वाचन प्रक्रिया सम्पन्न करवाने के लिए अनेक नवाचारों के साथ नवीनतम टेक्नालॉजी का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसके लिए यह जरूरी है कि हमें इस बात का ज्ञान हो कि नवीन तकनीक को किस प्रकार और कैसे बेहतर ढंग से संचालित करें।

ईआरओ-नेट क्या है?

  • ईआरओ-नेट ऐसी प्रक्रिया है, जिससे पूरे देश के ईआरओ एक साथ जुड़ जायेंगे तथा सूचनाओं का आदान-प्रदान एक-दूसरे से कर सकेंगे।
  • निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण अधिकारी (ईआरओ) को निर्णय लेने के लिए सभी जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध रहेगी। इससे निर्णय समय पर सम्भव हो सकेंगे।
  • समस्त आवदेनों का डिजिटल रिकार्ड ईआरओ के पास उपलब्ध रहेगा और इसको कभी भी सत्यापित करने में सुविधा होगी।
  • ईआरओ-नेट मतदाता सूची को बनाये जाने में एक वृहद एवं प्रभावी प्रशासनिक टूल सिद्ध होगा।
  • इसमें मृत मतदाताओं का डाटा-बेस उपलब्ध रहेगा, जिससे नाम हटाने में सुविधा होगी। मतदाता के एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने पर पहले वाले स्थान से नाम हटाने तथा नए स्थान पर नाम जुड़वाने की प्रक्रिया सरल होगी।