| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

 
दूरसंचार क्षेत्र में जा सकती है 1.50 लाख लोगों की नौकरी
 

मुंबई, कर्ज के बोझ और घाटे से जूझ रहे दूरसंचार क्षेत्र में 1.50 लाख प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष नौकरियां जा सकती हैं। एक अनुमान के मुताबिक, दूरसंचार क्षेत्र पर फिलहाल 8 लाख करोड़ रुपए से अधिक का कर्ज है। इसके अलावा आपसी प्रतियोगिता में दिए जा रहे मुफ्त ऑफरों की वजह से कंपनियां घाटे में हैं। भारतीय रिजर्व बैंक ने भी बैंकों को दूरसंचार क्षेत्र की कंपनियों को दिए जा रहे कर्ज को लेकर सचेत किया था। जानकारों के मुताबिक, दूरसंचार कंपनियों के पास लागत में कमी लाने के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं बचा है। इसलिए अब छंटनी का सहारा लिया जा सकता है। कुछ कंपनियों के बीच विलय समझौते की वजह से ही 15 हजार से अधिक नौकरियां जा सकती हैं। आइडिया ने वोडाफोन से विलय की दिशा में बढ़ते हुए करीब 1800 लोगों को नौकरी से निकाला है। अभी 5 से 6 हजार और लोगों की नौकरी जा सकती है। इसी तरह वोडाफोन ने 1400 लोगों को सेवा मुक्त कर दिया है। भारती एयरटेल भी 1500 लोगों को हटा चुकी है।