| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

नोबेल पुरस्कार- 2017
स्विटजरलैंड के स्टॉकहोम से साल 2017 के चिकित्सा, रसायन, भौतिकी, साहित्य और शांति के लिए नोबेल पुरस्कारों की घोषणा

चकित्सा के लिए जेफरी सी. हॉल, माइकल रॉसबैस और माइकल डब्ल्यू यंग पुरस्कृत

यूएस के जेनेसिसिस्ट्स जेफरी सी. हॉल, माइकल रॉसबैस और माइकल डब्ल्यू यंग को इंटरनल बॉयलॉजिकल क्लॉक के बारे में महत्वपूर्ण शोध के लिए 2017 के चिकित्सा के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है।

भौतिकी के लिए नोबेल पुरस्कार वैज्ञानिक रेनर वेइस, बैरी बेरिश, किपथोर्न को संयुक्त रूप से मिला

गुरुत्वाकर्षणीय तरंगों का पता लगाने के लिए अमेरिकी वैज्ञानिकों रेनर वेइस, बैरी बेरिश और किप थोर्न को संयुक्त रूप से भौतिकी का नोबेल पुरस्कार दिया गया।  करीब एक सदी पहले अल्बर्ट आइंस्टीन ने पहली बार स्पेस-टाइम में तरंगों का पता लगाया था। इसके बाद पिछले साल के आरंभ में जब गुरुत्वाकर्षणीय तरंगों का पहली बार पता लगाने की घोषणा की गई तो खगोल भौतिकी क्षेत्र में इसे क्रांतिकारी कदम माना गया।

रसायन के लिए जैक्स डुबेचित, जोएचिम फ्रैंक और रिचर्ड हैंडरसन को मिला नोबेल पुरस्कार

स्वीडिश रॉयल एकेडमी ने जैक्स डुबोचित, जोएचिम फ्रैंक और रिचर्ड हैंडरसन को क्रामो इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोपी विकसित करने के लिए रसायन का नोबेल पुरस्कार दिया है। नोबेल की केमिस्ट्री कमेटी ने पुरस्कार की घोषणा करते हुए कहा कि इन रसायन वैज्ञानिकों की नई कूल मेथड से रिसर्चस बायोमॉलिक्यूल्स के थ्री डायमेंशनल स्ट्रक्चर बना सकेंगे।

साहित्य का नोबेल पुरस्कार  कजुओ इशिगुरो को मिला

जापानी मूल के प्रख्यात ब्रिटिश लेखक कजुओ इशिगुरो को वर्ष 2017 का साहित्य का नोबेल पुरस्कार दिया गया है। स्वीडिश एकेडमी ने यह घोषणा की। इशिगुरो अंग्रेजी की दुनिया में समकालीन फिक्शन लेखकों में अग्रणी माने जाते हैं। उन्हें इससे पहले चार बार ‘मैन बुकर पुरस्कार’ के लिए नामित किया जा चुका है और 1989 में उन्हें उपन्यास ‘द रीमेंस ऑफ द डे’ के लिए यह पुरस्कार दिया गया है।

शांति के लिए ‘आईसीएएन’ को मिला सम्मान

शांति के नोबेल पुरस्कार 2017 की घोषणा हो गई है। इस साल एंटी न्यूक्लियर अभियान चलाने वाली संस्था आईसीएएन (क्ष्क्ॠग़्) को यह सम्मान मिला है। ‘‘इंटरनेशनल कैम्पेन टू एबोलिश न्यूक्लियर वेपन’’ नाम की यह संस्था दुनिया में परमाणु हथियारों के इस्तेमाल के बाद भयावह परिस्थितियों से अवगत कराने के लिए उसके प्रयासों की वजह से दिया गया है।