| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

नौवां ब्रिक्स शिखर सम्मेलन
विश्व में स्थिरता और विकास के लिए योगदान कर रहे हैं ब्रिक्स देश
अधोसंरचना विकास के लिए ऋण मुहैया करा रहा है न्यू डेव्हलपमेंट बैंक

शियामेन, ब्रिक्स देशों ने आपसी सहयोग के लिए एक मजबूत ढांचा विकसित किया है। विश्व में स्थिरता और विकास के लिए ब्रिक्स देश योगदान कर रहे हैं। व्यापार और अर्थव्यवस्था ब्रिक्स देशों के बीच सहयोग की नींव रही है। न्यू डेव्हलपमेंट बैंक ने ब्रिक्स देशों में अधोसंरचना और विकास के लिए ऋण उपलब्ध कराना शुरू कर दिया है। साथ ही सदस्य देशों के केन्द्रीय बैंकों ने आकस्मिक रिज़र्व व्यवस्था के लिए कदम उठाये हैं, जो ब्रिक्स के लिए मील का पत्थर हैं। यह विचार प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने चीन के शियामेन में आयोजित ‘नौवें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन’ को संबोधित करते हुए व्यक्त किये। इस दौरान प्रधानमंत्री श्री मोदी ने ब्रिक्स के लिए आठ उत्कृष्ट प्रतिबद्धताओं का सुझाव दिया।

  • ब्रिक्स देशों के बीच कार्पोरेट्स यूनिट की वित्तीय जरूरत के लिए ब्रिक्स रेटिंग एजेंसी बनाई जानी चाहिये।
  • ब्रिक्स देशों के केन्द्रीय बैंैकों की क्षमताओं में वृद्धि के लिए प्रत्यावर्तनीय रिज़र्व व्यवस्था और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के बीच सहयोग बढ़ाया जाये।
  • ब्रिक्स देशों के बीच अक्षय और सौर ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए सहयोग किया जाये।
  • सदस्य देशों के युवाओं के कौशल विकास के लिए सहयोग किया जाये।
  • ब्रिक्स देश स्मार्ट सिटी, शहरीकरण और आपदा प्रबंधन पर सहयोग करें।
  • नवाचार और डिजिटल अर्थव्यवस्था पर भागीदारी और विकास को बढ़ावा दें ब्रिक्स देश।
  • ब्रिक्स फ्रेमवर्क के तहत एक सहयोगी पायलट परियोजना बनाई जाये और इसमें निजी उद्यमिता को शामिल किया जाये।
  • कौशल विकास, स्वास्थ्य, बुनियादी सुविधाओं और विनिर्माण के क्षेत्र में ब्रिक्स देश मिलकर काम करें।