| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

क्राईम एण्ड क्रिमिनल ट्रैकिंग नेटवर्क और सिस्टम
साइबर अपराधों पर रोक लगाने में मददगार होगा सीसीटीएनएस
 

नई दिल्ली, आज पूरी दुनिया साइबर युद्ध की चुनौती का सामना कर रही है। पारम्परिक युद्ध का प्रभाव क्षेत्र स्थानीय है, लेकिन साइबर युद्ध का प्रभाव क्षेत्र वैश्विक है। वर्तमान समय में साइबर हमारे जीवन के कई आयामों से जुड़ा है। इसलिए साइबर सुरक्षा और अधिक महत्वपूर्ण हो जाती है। केंद्र सरकार ने साइबर अपराधों पर लगाम लगाने के लिए सीसीटीएनएस ‘अपराध और अपराधी निगरानी प्रणाली’ विकसित की है। यह प्रणाली राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए एक प्रभावी कदम है। यह बात गृह राज्यमंत्री श्री किरन रिजिजू ने नई दिल्ली में साइबर और नेटवर्क सुरक्षा की दसवीं वार्षिक बैठक को संबोधित करते हुए कही।

श्री रिजिजू ने कहा कि हमारे देश में कानून का शासन है न कि कानून के द्वारा शासन है। अन्य अधिनायकवादी देशों में कोई भी क्रियान्वयन सरल है, परन्तु यहाँ नागरिकों की जागरुकता बहुत महत्वपूर्ण है।
श्री रिजिजू ने साइबर सुरक्षा के लिये निजी क्षेत्र को सरकार के साथ साझीदार बनने के लिये प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि डिजिटल अर्थव्यवस्था से हम अलग नहीं रह सकते। नकद विहीन अर्थव्यवस्था एक वास्तविकता है। जैसे-जैसे हमारी निर्भरता साइबर दुनिया पर बढ़ती जाएगी, साइबर खतरे और कम्प्यूटर वायरस का जोखिम बढ़ता जायेगा। साइबर आक्रमण की स्थिति में पूरी अर्थव्यवस्था को गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।