| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

एशिया कप क्वालिफायर्स
सोनम ने विश्व कैडेट कुश्ती में जीता स्वर्ण पदक

एथेंस, भारतीय महिला पहलवान सोनम ने एथेंस में आयोजित विश्व कैडेट कुश्ती चैम्पियनशिप में महिलाओं के 56 किलोग्राम भार वर्ग स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीता है। सोनम ने फाइनल मुकाबले में जापान की सेना नागामोतो को 3-1 से हराया। इसके साथ ही 43 किलोग्राम भार वर्ग में नीलम ने रोमानिया की रोक्साना अलेक्सांद्र को हराकर काँस्य पदक जीता।

दिव्या बनीं विश्व कैडेट शतरंज चैम्पियन

पोसूस द कालदस, बारह वर्षीय भारतीय शतरंज खिलाड़ी दिव्या देशमुख ने इतिहास रचते हुए विश्व कैडेट शतरंज चैम्पियनशिप का खिताब जीत लिया है। फाइनल राउंड में दिव्या ने 11 में से 9.5 अंक हासिल कर यह उपलब्धि हासिल की। फाइनल में दिव्या ने मातुस नासतास्जा को हराया। पूरी प्रतियोगिता में दिव्या ने 11 में से आठ मैच जीते और तीन मैच ड्रा खेले।

रोहन और कुहू ने जीता हेलास ओपन

लिवेदिया, भारत के नवोदित शटलर रोहन कपूर और कुहू गर्ग की जोड़ी ने ग्रीस के लिवेदिया में आयोजित हेलास ओपन 2017 का खिताब जीता है। रोहन और कुहू ने मिश्रित युगल वर्ग के फाइनल में भारत के ही करिश्मा वाडकर और उत्कर्ष अरोड़ा की जोड़ी को 21-19, 21-19 से हराया। यह रोहन और कुहू का अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहला बड़ा टूर्नामेंट है।

छह गोल्ड जीतने वाली पहली महिला बनीं पेरकोविक

ब्रुसेल्स, क्रोएशिया की सेंड्रा पेरकोविक ने ब्रुसेल्स में आयोजित डायमंड लीग एथलेटिक्स में डिस्कस थ्रो में स्वर्ण पदक जीता है। इसी के साथ पेरकोविक डायमंड लीग में छह स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली महिला एथलीट बन गई हैं। पेरकोविक ने डिस्क थ्रो में 68.82 मीटर दूर चक्का फेंककर स्वर्ण पदक जीता है।

भारत के खिलाफ डेविस कप नहीं खेलेंगे राओनिक

नई दिल्ली, कनाडा के स्टार टेनिस खिलाड़ी मिलोस राओनिक चोट के कारण भारत के खिलाफ इसी महीने शुरू हो रहे डेविस कप टूर्नामेंट से हट गए हैं। कनाडा के एडमंटन में 15 सितंबर से भारत और कनाडा के बीच डेविस कप के विश्व ग्रुप प्ले ऑफ मुकाबले होंगे।

पूर्व रणजी क्रिकेटर शरद राव का निधन

मुम्बई, पूर्व रणजी क्रिकेटर शरद राव का मुम्बई में हृदयघात से निधन हो गया। वे 60 वर्ष के थे। मध्यम गति के तेज गेंदबाज शरद ने अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट कैरियर की शुरुआत मुम्बई से की थी। शरद 1980-81 में एकनाथ सोल्कर की कप्तानी में चैम्पियन बनने वाली टीम में शामिल थे। शरद, मुम्बई के अलावा कर्नाटक की ओर से भी घरेलू क्रिकेट खेल चुके हैं।