Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

यूथ फेस्टिवल ‘नवोन्मेष’
अपने हुनर से विश्व में अलग पहचान बनायें युवा - जयभान सिंह पवैया
युवा पढ़ाई के साथ संस्कृति को सृजित करने की जिम्मेदारी भी वहन करें

भोपाल, प्रत्येक व्यक्ति के भीतर प्रतिभा होती है, बस इसे पहचानने की जरूरत होती है। प्रदेश के युवा अपने हुनर के जरिये दुनिया में अपनी अलग पहचान बनायें। यह बात उच्च शिक्षा मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया ने भोपाल में आईसेक्ट विश्वविद्यालय में आयोजित यूथ फेस्टिवल ‘नवोन्मेष’ के समापन समारोह को संबोधित करते हुए कही। समारोह में संस्कृति राज्यमंत्री श्री सुरेन्द्र पटवा ने कहा कि युवा वर्ग पढ़ाई के साथ-साथ संस्कृति को सृजित करने की जिम्मेदारी भी वहन करें।

श्री जयभान सिंह पवैया ने कहा कि भारत भू-सांस्कृतिक राष्ट्र है, इसकी संस्कृति कभी मिट नहीं सकती। श्री पवैया ने कहा कि देश के उत्सव और परम्परा को बचाने की जरूरत है। हमारी संस्कृति बड़े-छोटे का भेदभाव मिटाकर समरसता का संदेश देती है। शिक्षा परिसरों में सामाजिक सरोकार से परिपूर्ण सम्पूर्ण व्यक्ति तैयार होना चाहिए।

संस्कृति राज्यमंत्री श्री सुरेन्द्र पटवा ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार कला और संस्कृति को आगे बढ़ाने की दिशा में निरंतर प्रयासरत है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में संस्कृति विभाग एक हजार आठ सौ  सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करता है।

विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. विजय सिंह ने अतिथियों का स्वागत करते हुए बताया कि यूथ फेस्टिवल में सात राज्यों के 25 विश्वविद्यालयों ने भाग लिया है। लगभग दो हजार पाँच सौ प्रतिभागियों ने 27 प्रतियोगिताओं के माध्यम से अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। कार्यक्रम में अतिथियों ने स्मारिका का विमोचन भी किया तथा मध्यप्रदेश निजी विश्व-विद्यालय विनियामक आयोग के अध्यक्ष डॉ. अखिलेश पाण्डे ने भारतीय विश्वविद्यालय संघ में निजी विश्वविद्यालयों को भी शामिल करने पर धन्यवाद ज्ञापित किया।