| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

‘पाँच साल सात बार-छूटे न टीका एक भी बार’
सघन मिशन इन्द्रधनुष के द्वितीय चरण का आगाज
 

भोपाल, सघन मिशन इन्द्रधनुष का द्वितीय चरण प्रदेश के 14 जिलों अलीराजपुर, छतरपुर, इंदौर (शहर), झाबुआ, पन्ना, रायसेन, रीवा, सागर, शहडोल, श्योपुर, सीधी, सिंगरौली, टीकमगढ़ और विदिशा में आरंभ हो गया है। 18 नवम्बर तक चलने वाले इस कार्यक्रम में पाँच साल तक के बच्चों और गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया जाएगा।

प्रथम चरण में मध्यप्रदेश अग्रणी

देश के 16 राज्यों के चिन्हित जिलों में लागू होने वाले इस कार्यक्रम का शुभारंभ प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और संबंधित मुख्यमंत्रियों ने अपने-अपने राज्यों में आठ अक्टूबर 2017 को किया था। कार्यक्रम का उद्देश्य टीकाकरण से छूटे हुए बच्चों का शत-प्रतिशत टीकाकरण सुनिश्चित करना था। बीमारी के दौरान टीकाकरण न होने से, माता-पिता द्वारा स्थान परिवर्तन करने या अज्ञानतावश टीकाकरण करवाने से कुछ बच्चे छूट जाते हैं।

बच्चे को नौ प्रकार की बीमारियों से बचाने के लिए प्रथम टीका जन्म के समय, दूसरा डेढ़ माह की उम्र में, तीसरा ढाई माह, चौथा साढ़े तीन माह, पाँचवाँ नौ माह, छठा डेढ़ साल और सातवाँ पाँच साल की उम्र में अनिवार्य रूप से लगना चाहिए।

एप से होगी मॉनीटरिंग

टीकाकरण कार्यक्रम की मॉनीटरिंग एंड्रायड आधारित मोबाइल एप से जिलेवार होगी। आदिवासी जिलों में टीकाकरण समझाइश के लिए जनजातीय कल्याण विभाग का सहयोग लिया जाएगा। जिलों में कोल्ड-चेन इस तरह बनाई गई है कि किसी भी केन्द्र तक टीके पहुँचाने में एक घंटे से कम का समय लगेगा।