| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

 
सरोज मीणा को मिली छात्रवृत्ति योजना की जानकारी
 

तहसील केलवारी, जिला सिवनी की सरोज मीणा ने सीएम हेल्पलाइन से संपर्क कर बताया कि वह कक्षा दसवीं की छात्रा हैं और सिवनी के शासकीय उच्चतर बालिका विद्यालय में अध्ययनरत हैं। उन्हें शासन द्वारा प्रदत्त छात्रवृत्ति योजना का लाभ नहीं मिल रहा है।

सरोज ने सीएम हेल्पलाइन के अधिकारियों से अनुरोध किया कि मुझे अतिशीघ्र छात्रवृत्ति योजना का लाभ दिलवाने में मदद करें। सीएम हेल्पलाइन के अधिकारियों ने सरोज की मदद करने के लिए उनके विद्यालय के प्राचार्य से संपर्क कर सरोज की समस्या को बताया और उसके लिए (सरोज के लिए) क्या मदद हो सकती है, यह भी जानना चाहा।

तब प्राचार्य ने अधिकारियों को बताया कि उनके विद्यालय में समय-समय पर सभी कक्षाओं में छात्रवृत्ति आवेदन पत्र भरने की सूचना बकायदा दी जाती है। कभी-कभी छात्राएँ अनुपस्थित रहती हैं, हो सकता है इसी वजह से सरोज को छात्रवृत्ति योजना की जानकारी नहीं मिल पाई होगी। प्राचार्य ने अधिकारियों को यह भी बताया कि अगले सप्ताह ही उनके विद्यालय में राज्य शिक्षा केन्द्र से कुछ अधिकारी, छात्राओं को शिक्षा अनुसंधान छात्रवृत्ति योजना के साथ-साथ शासकीय योजनाओं, जो कि छात्राओं के हित से संबंधित होंगी, के बारे में जानकारी देने आ रहे हैं और उसी दौरान छात्रवृत्ति आवेदन फार्म भरने से वंचित रही छात्राओं को भी आवेदन पत्र भरवाने की व्यवस्था रखी गयी है।

प्राचार्य से बात करने के बाद अधिकारियों ने यह जानकारी सरोज को दी और विद्यालय जाकर निश्चित तिथि की जानकारी लेने को भी कहा। सरोज ने इस महत्वपूर्ण जानकारी के प्राप्त होने पर अधिकारियों को मदद के लिए धन्यवाद दिया और विद्यालय जाकर प्राचार्य से मिलकर आवेदन पत्र भरने की तिथि जानने का भी वादा किया।

क्या करें - इसके लिए टोल फ्री नंबर 181 पर कॉल करें। कॉल करने पर संबंधित शिकायतकर्ता से नाम और वर्तमान पता पूछा जाएगा। आप सही नाम और सही पता दर्ज करवाएँ। हर शिकायत दर्ज करने पर एक यूनिक नंबर जनरेट होता है। आप यह नंबर नोट कर लें। हेल्पलाइन से आपकी शिकायत को संबंधित अधिकारियों के पास ऑनलाइन और फिर फोन द्वारा सूचित किया जाता है।

आप भी हेल्पलाइन पर प्राप्त यूनिक नंबर से अपनी शिकायत की यथास्थिति जान सकते हैं। अगर आपकी समस्या का समाधान प्रथम स्तर पर नहीं हो पाता है, तब इसे लेवल टू यानी जिले के प्रमुख के पास भेजा जाता है। इसके बाद संभाग स्तर पर और फिर शासन के स्तर पर समस्या का निदान किया जाता है। समस्या के निपटारे के बाद संबंधित शिकायतकर्ता को क्लोजर कॉल द्वारा सूचित किया जाता है। सही मायने में यह आपकी समस्या के समाधान के लिए बनी हेल्पलाइन है। बस आपको 181 नम्बर डायल करना है।

आप भी चाहें तो अपनी समस्या का समाधान सीएम हेल्पलाइन के जरिये करा सकते हैं।