| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

 
युवाओं को अपनानी होगी उद्यमशीलता - जेटली
 

नई दिल्ली। देश की विशाल कार्यशील जनसंख्या को नौकरियां देने के लिए सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्र पर्याप्त नहीं हैं। ऐसे में उद्यमशीलता ही भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान कर सकती है। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राष्ट्रीय उद्यमशीलता पुरस्कार-2017 समारोह को संबोधित करते हुए यह बात कही। यह पुरस्कार केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय की ओर से प्रदान किया जाता है। केंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा कि उद्यमशीलता ही भारतीय अर्थव्यवस्था की ताकत बनने जा रही है। इसलिए देश में कौशल विकास और उद्यमशीलता को बढ़ावा देने की जरूरत है। जेटली ने कहा कि सरकारी क्षेत्र केंद्र सरकार, राज्य सरकार या पीएसयू में नई नौकरी उत्पन्न करने की क्षमता कम है। निजी क्षेत्र में नौकरी देने की कहीं ज्यादा क्षमताएं हैं। हालांकि, दोनों ही क्षेत्रों में उत्पन्न नौकरियों की संख्या इतनी नहीं हैं कि देश की बेरोज़गार जनसंख्या की जरूरत पूरी कर सकें। ऐसे में युवाओं को उद्यम को अपनाना होगा और रोजगार देने वाला बनना होगा।