Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

 
सितंबर में औद्योगिक वृद्धि दर गिर कर 3.8 फीसदी पर आया
 

नई दिल्ली। विनिर्माण क्षेत्र के खराब प्रदर्शन के चलते सितंबर महीने में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर घटकर 3.8 प्रतिशत रह गई। आंकड़ों के अनुसार विनिर्माण क्षेत्र के खराब प्रदर्शन के साथ साथ टिका उपभोक्ता सामान खंड में गिरावट से भी इस महीने में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि प्रभावित हुई। औद्योगिक उत्पादन सूचकांक आईआईपी आधारित कारखाना उत्पादन सितंबर 2016 में पांच प्रतिशत बढ़ा था, जबकि इस साल अगस्त में इसमें 4.5 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई थी। केंद्रीय सांख्यिकी संगठन के आंकड़ों के अनुसार चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर 2.5 प्रतिशत रही, जो कि पिछले वित्त वर्ष की समान छमाही में यह 5.8 प्रतिशत थी। सितंबर महीने में विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि दर घटकर 3.4 प्रतिशत रह गई जो कि पिछले साल 5.8 प्रतिशत रही थी। सूचकांक में इस क्षेत्र का भारांक 77.63 प्रतिशत है। अप्रैल-सितंबर की अवधि में विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि दर 1.9 प्रतिशत रही जो कि गत वर्ष समान अवधि में 6.1 प्रतिशत थी।